scorecardresearch
 

शिवसेना ने BJP की प्रदेश इकाई पर फोड़ा गठबंधन में टूट का ठीकरा

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के गठबंधन तोड़ने को शिवसेना ने दुखद बताया है और टूट का ठीकरा बीजेपी की प्रदेश इकाई के सिर फोड़ा है. सूत्र बता रहे हैं कि शिवसेना फिलहाल बीजेपी आलाकमान को निशाने पर लेने के बजाए प्रदेश बीजेपी के नेताओं को ही जिम्मेदार ठहराएगी. इसकी तसदीक उन ट्वीट्स से भी होती है जो शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने किए हैं.

aditya thackeray aditya thackeray

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के गठबंधन तोड़ने को शिवसेना ने दुखद बताया है और टूट का ठीकरा बीजेपी की प्रदेश इकाई के सिर फोड़ा है. सूत्र बता रहे हैं कि शिवसेना फिलहाल बीजेपी आलाकमान को निशाने पर लेने के बजाए प्रदेश बीजेपी के नेताओं को ही जिम्मेदार ठहराएगी. इसकी तसदीक उन ट्वीट्स से भी होती है जो शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने किए हैं.

 

आदित्य ठाकरे ने ट्विटर पर लिखा है कि पांच दिनों से वह चुप थे, क्योंकि कुछ बीजेपी नेताओं को उनकी उम्र उनके प्रयास से ज्यादा अहम लग रही थी. उन्होंने लिखा, 'मैंने बातचीत में गतिरोध को तोड़ा लेकिन दुर्भाग्य से एक और स्पीड ब्रेकर रास्ते में आ गया.'

गतिरोध सुलझाने की आखिरी बैठकों में आदित्य भी शामिल हुए थे. उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि बीजेपी और शिवसेना का गठजोड़ राजनीतिक नहीं पारिवारिक था. लगे हाथ उन्होंने एक पुरानी तस्वीर भी शेयर की जिसमें बीजेपी नेता अटल बिहारी वाजपेयी शिवसेना सुप्रीमो बाल ठाकरे को सम्मानित करते नजर आ रहे हैं; मनोहर जोशी और प्रमोद महाजन साथ में खड़े हैं.

 

24 साल के आदित्य ने ट्विटर पर लिखा, 'यह दुखद है कि बीजेपी ने शिवसेना से अपना 25 साल पुराना नाता तोड़ने का फैसला किया. हम बुरे दिनों में भी बिना शर्त साथ रहे हैं. यह गठबंधन बालासाहेब और प्रमोद काका (प्रमोद महाजन) ने विचारधारा और विकास के लिए बनाया था.'

उन्होंने लिखा कि यह गठबंधन मेरे पैदा होने से पहले का है. मैं बीजेपी और शिवसेना की एकता के वातावरण में बड़ा हुआ. बीजेपी और उसके नेताओं के बारे में ढेर सारी यादें जेहन में हैं. उद्धव की ही जुबान में उन्होंने बीजेपी को 2002 का वह समय याद दिलाया जब दंगों के बाद भी शिवसेना मोदी के साथ खड़ी थी.

 

उन्होंने लिखा कि चुनौती जितनी बड़ी होती है, जीत भी उतनी महान होती है. उन्होंने कहा कि शिवसेना और बालासाहेब ठाकरे में यकीन रखने वाले सभी कार्यकर्ता जीत सुनिश्चित करेंगे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें