scorecardresearch
 

चीन पर 2013 के ट्वीट से कांग्रेस ने PM मोदी को घेरा, कहा- अपने सवाल का जवाब दीजिए

मंगलवार को पार्टी नेता शशि थरूर ने नरेंद्र मोदी के 2013 के ट्वीट को री-ट्वीट करते हुए कहा कि इस मामले (फौज के पीछे हटने) में मैं मोदी जी के साथ हूं. प्रधानमंत्री को इस पर जवाब देना चाहिए.

शशि थरूर-रणदीप सुरजेवाला का पीएम मोदी से सवाल शशि थरूर-रणदीप सुरजेवाला का पीएम मोदी से सवाल

  • 2013 के एक ट्वीट पर कांग्रेस नेताओं ने मांगा जवाब
  • भारत-चीन तनाव पर तत्कालीन सीएम मोदी का ट्वीट

वरिष्ठ कांग्रेस नेता शशि थरूर और रणदीप सुरजेवाला ने 2013 के एक ट्वीट का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. 2013 में भारत-चीन तनाव से जुड़ा यह ट्वीट नरेंद्र मोदी ने तब किया था जब वे गुजरात के मुख्यमंत्री थे. इस ट्वीट को आगे बढ़ाते हुए दोनों कांग्रेस नेताओं ने प्रधानमंत्री से जवाब मांगा है.

साल 2013 के ट्वीट में नरेंद्र मोदी ने यूपीए-2 के दौरान तत्कालीन मनमोहन सिंह सरकार से पूछा था कि लद्दाख में भारतीय फौज अपने ही इलाके से क्यों पीछे हट रही है. ट्वीट में नरेंद्र मोदी ने लिखा, 'चीन अपनी सेना पीछे हटा रहा है लेकिन मुझे ताज्जुब है कि भारतीय फौज अपनी ही जमीन पर पीछे क्यों हट रही है? हमें आखिर क्यों पीछे हटना चाहिए?'

बता दें, यह ट्वीट उस दौरान किया गया था जब वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत और चीन की फौज आमने-सामने थी. तनाव घटाने के लिए दोनों पक्षों में सहमति बनी और दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए कि लद्दाख के विवादित इलाके से फौज हटाई जाएगी. उस वक्त भारत ने कहा था कि चीनी सेना 15 अप्रैल, 2013 को भारतीय क्षेत्र के 10 किमी हिस्से में घुस आई और लद्दाख की देप्सांग घाटी में अपने टेंट खड़े कर दिए.

ठीक ऐसा ही वाकया बीते दिन रविवार को सामने आया, जिसमें दोनों देश तनाव कम करने के लिए अपनी-अपनी फौजें पीछे हटाने पर राजी हुए. लद्दाख की गलवान घाटी में 'नो मैंस लैंड' बनाने का ऐलान हुआ ताकि किसी पक्ष की ओर से तनाव न भड़के. मई के शुरुआती दिनों से ही दोनों देशों की सेनाएं आमने सामने थीं. 15 जून को दोनों पक्षों के बीच हिंसक झड़प हो गई जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हुए. चीन के भी कई फौजी हताहत हुए लेकिन उसने कोई आधिकारिक आंकड़ा जारी नहीं किया.

इस घटना पर कांग्रेस ने सरकार को शुरू से घेरा है और मंगलवार को पार्टी नेता शशि थरूर ने नरेंद्र मोदी के 2013 के ट्वीट को री-ट्वीट करते हुए कहा कि 'इस मामले (फौज के पीछे हटने) में मैं मोदी जी के साथ हूं. प्रधानमंत्री को इस पर जवाब देना चाहिए.'

शशि थरूर के सुर में सुर मिलाते हुए पार्टी नेता रणदीप सुरजेवाला ने भी एक ट्वीट किया और लिखा, आदरणीय प्रधानमंत्री जी, क्या आपके शब्द याद हैं? क्या आपके शब्दों के कोई मायने हैं? क्या बताएंगे कि अब हमारी फ़ोर्स हमारी सरज़मीं से क्यों पीछे हट रही है? देश जवाब मांगता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें