scorecardresearch
 

जेडीयू ने माना शरद यादव को पार्टी से निकालना आसान नहीं!

उन्होंने कहा कि इक्का-दुक्का लोगों के जाने से पार्टी में विभाजन नहीं होता. हालांकि खुद केसी त्यागी ने माना कि शरद यादव को अभी पार्टी से नहीं निकाला गया है लेकिन पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण वह खुद पार्टी से दूर हो गए हैं.

नीतीश कुमार के साथ शरद यादव नीतीश कुमार के साथ शरद यादव

नीतीश कुमार के खिलाफ शरद यादव के बगावती तेवरों के बीच जेडीयू ने साफ किया है कि उनकी पार्टी में कोई विभाजन नहीं हुआ है और शरद यादव के साथ बस इक्का-दुक्का लोग ही हैं.

जेडीयू के सेक्रेटरी जनरल केसी त्यागी ने सोमवार को दिल्ली में प्रेस कांफ्रेंस करके दावा किया कि शरद यादव कैंप द्वारा यह भ्रामक प्रचार किया जा रहा है कि पार्टी में विभाजन हो चुका है. उन्होंने कहा कि इक्का-दुक्का लोगों के जाने से पार्टी में विभाजन नहीं होता. हालांकि खुद केसी त्यागी ने माना कि शरद यादव को अभी पार्टी से नहीं निकाला गया है लेकिन पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण वह खुद पार्टी से दूर हो गए हैं.

लालू के साथ जाना किए धरे पर पानी फेरना

केसी त्यागी ने माना कि शरद यादव को पार्टी से निकालने का फैसला आसान नहीं होगा क्योंकि उन्होंने पार्टी के लिए बहुत कुछ किया है और भ्रष्टाचार के मामले में उनका दामन बिल्कुल साफ रहा है. लेकिन भ्रष्टाचार में डूबे लालू यादव के साथ जाकर शरद यादव अपने किए धरे पर पानी फेर रहे हैं. केसी त्यागी ने कहा कि अगर शरद यादव 27 अगस्त को पटना में बुलाई गई लालू यादव की रैली में शामिल होते हैं तो उसके बाद जेडीयू में उनके लिए कोई जगह नहीं रह जाएगी.

जेडीयू ने जारी की पदाधिकारियों की लिस्ट

शरद यादव के करीबी लोगों द्वारा यह दावा किया गया था कि कई राज्यों में पार्टी के पदाधिकारी शरद यादव के साथ हैं और पार्टी तोड़ने को तैयार हैं. लेकिन केसी त्यागी ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में जेडीयू के सभी पार्टी पदाधिकारियों की लिस्ट जारी करते हुए दावा किया कि इक्का-दुक्का लोगों को छोड़कर सभी के सभी नेता नीतीश कुमार के साथ हैं.

अली अनवर को छोड़कर शरद के साथ कोई नहीं!

लोकसभा और राज्यसभा को मिलाकर जेडीयू के कुल 11 सांसद हैं जिसमें से 9 सांसद नीतीश कुमार के साथ हैं. केसी त्यागी ने कहा कि अली अनवर को छोड़कर कोई भी सांसद शरद यादव के साथ नहीं है. केरल के जेडीयू नेता वीरेंद्र कुमार के बारे में उन्होंने दावा किया कि वह पार्टी से अलग हो रहे हैं लेकिन ना तो वह नीतीश कुमार के साथ हैं और ना ही शरद यादव के साथ.

सिर्फ 5 राज्यों में जेडीयू स्टेट यूनिट को मान्यता

केसी त्यागी ने कहा कि सिर्फ पांच राज्यों में जेडीयू स्टेट यूनिट को मान्यता प्राप्त है. यह राज्य हैं बिहार, झारखंड, केरल, जम्मू कश्मीर और दादर और नगर हवेली. उन्होंने कहा कि केरल की यूनिट वीरेंद्र कुमार के साथ है और बाकी सभी राज्य इकाईयां नीतीश कुमार के साथ हैं. केसी त्यागी ने कहा कि जेडीयू के 10 महासचिव हैं जिनमें से 7 महासचिव नीतीश कुमार के साथ हैं.

केसी त्यागी ने दावा किया कि नीतीश कुमार की छवि बेदाग है और लोगों में उनकी लोकप्रियता का कोई मुकाबला नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें