scorecardresearch
 

...जब शाहीन बाग में बाहर से पहुंची भीड़, लगाए खाली करो के नारे

शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों का विरोध कर रहे लोगों को पुलिस समझा ही रही थी कि शाहीन बाग के सामने झुग्गियों से 150 लोग आ गए और नोएडा-दिल्ली सड़क को खोलने की मांग करने लगे. थोड़ी देर बाद पुलिस इन्हें बस में भरकर ले गई.

शाहीन बाग में पुलिस की तैनाती बढ़ा दी गई है (फोटो-आजतक) शाहीन बाग में पुलिस की तैनाती बढ़ा दी गई है (फोटो-आजतक)

  • शाहीन बाग की सुरक्षा बढ़ाई गई, पुलिस तैनात
  • प्रदर्शनकारियों का विरोध कर रहे लोग
  • कालिंदी कुंज सड़क खुलवाने की मांग

शाहीन बाग में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. शाहीन बाग में दिल्ली को नोएडा से जोड़ने वाली सड़क पर CAA के खिलाफ लगभग 50 दिनों से प्रदर्शन चल रहा है. आज यहां पर कई हिन्दू संगठनों को प्रदर्शन करना था. लेकिन पुलिस ने इजाजत नहीं दी थी, इसके बाद इन्होंने अपना प्रदर्शन रद्द कर दिया था.

दूसरी तरफ आज सुबह 11.30 बजे अचानक 20 से 25 लोग आ गए और शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों के खिलाफ धरने पर बैठ गए. ये लोग नोएडा-कालिंदी कुंज सड़क को खोलने की मांग कर रहे थे. इन लोगों ने आजतक से कहा कि वे किसी संगठन से नहीं जुड़े हैं और आस-पास के लोग हैं. आजतक से प्रदर्शन कर रहे एक शख्स ने कहा है कि वो ऑटो चलाता है और इस जाम की वजह से अपनी किश्त नहीं दे पा रहा है.

अचानक आए 150 प्रदर्शनकारी

पुलिस इन लोगों को समझा ही रही थी कि अचानक शाहीन बाग के सामने की झुग्गियों से 100 से 150 लोग वहां पर आ गए और सड़क खुलवाने की मांग करने लगे. पुलिस के मुताबिक यहां पर भीड़ बढ़ती गई और कुछ ही देर में महिलाएं भी आ गई. पुलिस इन लोगों को समझाने की कोशिश करती रही लेकिन ये नहीं माने. ये लोग सड़क पर बैठ गए और शाहीन बाग खाली करो के नारे लगाने लगे.

इनमें से कुछ लोगों ने वंदे मातरम और देश के गद्दारों को...गोली मारो...जैसे नारे लगाए. पुलिस के कहने पर जब ये लोग नहीं माने तो इन्हें बसों में भरकर ले जाया जाने लगा. हालांकि, अभी भी कई लोग वहीं पर मौजूद हैं और प्रदर्शन कर रहे हैं.

story_020220015456.jpgप्रदर्शनकारियों को बस में ले जाती पुलिस (फोटो-आजतक)

इस दौरान यहां सुरक्षा चाक चौबंद कर दी गई है. बड़ी संख्या में दिल्ली पुलिस के जवान तैनात कर दिए गए हैं. हालात को देखते हुए यहां पर पैरामिलिट्री फोर्स की तैनाती भी की गई है. पुलिस आस-पास मौजूद लोगों पर सख्ती और चौकसी से निगाह रखे हुए है. बता दें कि शनिवार को शाहीन बाग के पास ही एक युवक ने हवाई फायरिंग की थी.

आला अधिकारियों ने लिया सुरक्षा का जायजा

वहीं दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर आरएस कृष्णहेया और जॉइंट सीपी देवेश श्रीवास्तव शाहीन बाग पहुंचे थे. उन्होंने इलाके में पहुंचकर सुरक्षा व्यवस्था का  जायजा लिया. स्पेशल सीपी ने कहा, हम सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा कर रहे है, आज कुछ प्रदर्शनकारियों को यहां प्रदर्शन करने आना था पर कुछ ही आए बाकी नहीं. जो आए उन्हें हटा दिया गया, केवल उसी शख्स को इस इलाके में  आने दिया जा रहा है जो यहां आसपास का रहने वाला है. बैरिकेड्स भी अलग-अलग जगह लगाए गए हैं.

किसी को प्रदर्शन की इजाजत नहीं

दिल्ली के दक्षिणी-पूर्वी जिले के डीसीपी चिन्मय विश्वाल ने कहा कि कहा कि शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन के खिलाप किसी को भी किसी तरह के धरने प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी गई थी, फिर भी कुछ लोग यहां पर आ गए. पुलिस ने उन्हें हटा दिया है.

जसोला के लोगों ने बताई परेशानी

समाचार एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए जसोला की रहने वाली रेखा देवी ने कहा कि इस सड़क को जल्दी खोला जाए. CAA के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोग 50 दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं, इससे लोगों को परेशानी हो रही है, हमारे बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं क्योंकि रास्ता बंद है.

पढ़ें: राजधानी में प्रचार के लिए योगी, AAP ने की प्रतिबंध लगाने की मांग

दिल्ली पुलिस ने कहा है कि इस मामले में 52 लोगों को हिरासत में लिया गया है. इन्हें थोड़ी देर में रिहा कर दिया जाएगा.

जसोला के रहने वाले दीपक पटेल ने कहा कि वो किसी तरह काम के लिए अपना दफ्तर जा पाता है. दीपक ने कहा कि शनिवार से उसे काम पर जाने के लिए प्रदर्शन स्थल से गुजरना पड़ता है, शनिवार से उसे वहां से बिना आईडी कार्ड दिखाये जाने नहीं दिया जा रहा है.

रेखा खन्ना नाम की महिला ने कहा कि 50 दिन हो गए अब हर हाल में ये सड़क खुलनी चाहिए. उन्होंने कहा कि हमलोग एक दिन प्रदर्शन करने आए तो हमें भगा दिया गया लेकिन ये लोग 50 दिन से प्रदर्शन कर रहे हैं और इन्हें अबतक हटाया नहीं गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें