scorecardresearch
 

यौन उत्पीड़न के आरोपी आरके पचौरी बने टेरी के वाइस चेयरमैन

दशकों से टेरी की कमान संभाले पचौरी के लिए यह पोस्ट हाल ही में बनाई गई है जिससे संस्था पर उनका कार्यकारी नियंत्रण बना रहे. इसी बीच बीते 35 सालों से टेरी की कमान संभाले पचौरी की जगह टेरी के डायरेक्टर चुने गए अजय माथुर ने पदभार संभाल लिया है.

आरके पचौरी आरके पचौरी

सहकर्मी द्वारा लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोपों के बावजूद टेरी अध्यक्ष के रूप में कार्यरत आरके पचौरी को सोमवार को इस संस्था के वाइस चेयरमैन के रूप में पदोन्नति दी गई.

दशकों से टेरी की कमान संभाले पचौरी के लिए यह पोस्ट हाल ही में बनाई गई है जिससे संस्था पर उनका कार्यकारी नियंत्रण बना रहे. इसी बीच बीते 35 सालों से टेरी की कमान संभाले पचौरी की जगह टेरी के डायरेक्टर चुने गए अजय माथुर ने पदभार संभाल लिया है. गवर्निंग काउंसिल ने माथुर को बीती जुलाई में इस पद के लिए चुना था.

वाइस चेयरमैन के तौर पर पचौरी के पास संस्था का कार्यकारी नियंत्रण होगा. टेरी के कर्मचारियों को सोमवार को मिली एक आंतरिक ई-मेल के मुताबिक, 'आप सभी को सूचित किया जाता है कि डॉक्टर अजय माथुर ने आज से टेरी के डायरेक्टर जनरल की पोस्ट संभाल ली है. टेरी की गवर्निंग काउंसिल ने डॉक्टर आरके पचौरी को तत्काल प्रभाव से संस्था का एग्जीक्यूटिव वाइस चेयरमैन नियुक्त किया है.'

गौरतलब है कि पचौरी पर पिछले साल एक जूनियर सहकर्मी ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे. जिसके बाद पचौरी छुट्टी पर चले गए थे. हालांकि कुछ महीनों बाद उन्होंने संस्था में वापसी कर ली थी. पचौरी अपने पद पर बने रहे और शिकायतकर्ता को संस्था से इस्तीफा देना पड़ा.

इसी बीच गवर्निंग काउंसिल ने उस समय के ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी के डायरेक्टर जनरल अजय माथुर को संस्था का अगला डीजी बनाने की सिफारिश कर दी थी. टेरी की गवर्निंग काउंसिल के अध्यक्ष वैज्ञानिक बी वी श्रीकांतन हैं जबकि इसके सदस्यों में दीपक पारेख, नैना लाल किदवई और हेमेंद्र कोठारी जैसे लोग हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें