scorecardresearch
 

SMS भेजिए, ट्रेन में मनचाहा खाना खाइए

रेलगाड़ियों में घटिया खाने की शिकायतें लगातार आने के बाद रेल मंत्रालय ने नई व्यवस्था की है. अब कुछ ट्रेनों में खाने के लिए आपको महज एक एसएमएस भेजना होगा और चुने हुए कैटरर आपको खाना पहुंचाएंगे.

X
भारतीय रेल भारतीय रेल

रेलगाड़ियों में घटिया खाने की शिकायतें लगातार आने के बाद रेल मंत्रालय ने नई व्यवस्था की है. अब कुछ ट्रेनों में खाने के लिए आपको महज एक एसएमएस भेजना होगा और चुने हुए कैटरर आपको खाना पहुंचाएंगे.

रेल मंत्रालय ने फिलहाल ट्रायल के आधार पर यह व्यवस्था दिल्ली-अमृतसर खंड में की है. इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (आईआरटीसी) ने 25 सितंबर से ई-कैटरिंग की व्यवस्था की शुरुआत की है. इसते तहत यात्री एक एसएमएस या कॉल के जरिये अपने लिए खाना मंगा सकता है. उसे सिर्फ अपना पीएनआर नंबर देना है. इसके बाद खाना उसकी सीट पर पहुंचा दिया जाएगा. लेकिन जरूरी है कि उसका टिकट कन्फर्म हो चुका हो. अगर यह ट्रायल सही रहा तो कई और ट्रेनों में इसे लागू किया जाएगा.

जिन ट्रेनों में यह व्यवस्था लागू की गई है उनमें कटिहार-अमृतसर एक्सप्रेस, अमृतसर-लोकमान्य तिलक टर्मिनस एक्सप्रेस, शाने पंजाब एक्सप्रेस, दिल्ली-पठानकोट एक्सप्रेस, नई दिल्ली-अमृतसर एक्सप्रेस और शहीद एक्सप्रेस.

ये नंबर करें डायल
मनपसंद खाना खाने के लिए आपको 18001034139 (टोल फ्री नंबर) या 0120-43838299 पर कॉल करना होगा. खाने का ऑर्डर देने के लिए आपको आपना पीएनआर देना होगा. इसके जरिये यात्री का ट्रेन नंबर. कोच नंबर, सीट नंबर वगैरह पता लगा लिया जाएगा. इसके बाद यात्री से उसकी पसंद पूछी जाएगी. उसे दाम के साथ मेनू बताई जाएगी. उसका ऑर्डर लेकर उसे सूचित कर दिया जाएगा. इसके अलावा खाना देने वाले फूड प्लाजा या कैटरर को एक ई-मेल भी भेजा जाएगा जिसमें विस्तृत विवरण होगा जैसे ऑर्डर नंबर, बिल नंबर, कुल कीमत वगैरह.

खाना सर्व करते समय यात्री से पैसे वसूले जाएंगे. खाने का ऑर्डर देने के लिए कम से कम दो घंटे का समय देना होगा यानी उतने समय के बाद ही खाना मिल सकेगा. खाना यात्री की सीट पर ही पहुंचेगा. यह व्यवस्था ट्रायल बेसिस पर की गई है और अगर सफल रही तो अन्य ट्रेनों में भी की जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें