scorecardresearch
 

लालू बोले, बिहार से बीजेपी की खटिया खड़ी करना हमारा मकसद

आरजेडी अध्यक्ष और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला है. 'आज तक' सीधीबात कार्यक्रम में राहुल कंवल से लालू ने कहा, 'कभी कोई साध्वी, कभी महाराज तो कभी कोई साधु कुछ बोल रहा है. 'रामजादों' जैसे बयान दिए जा रहे हैं.

Lalu yadav Lalu yadav

आरजेडी अध्यक्ष और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला है. 'आज तक' सीधीबात कार्यक्रम में राहुल कंवल से लालू ने कहा, 'कभी कोई साध्वी, कभी महाराज तो कभी कोई साधु कुछ बोल रहा है. 'रामजादों' जैसे बयान दिए जा रहे हैं. ऐसे बयानों के लिए पीएम मोदी भी ज़िम्मेदार हैं. ये लोग उनके कैबिनेट के मंत्री हैं. अगर पीएम मोदी ऐसे लोगों पर रोक लगाना चाहते हैं तो भड़काऊ बयान देने वालों को पकड़ें और जेल में डालें.

देश के हालात फ़िलहाल आपको कैसे लगते हैं? इस सवाल के जवाब में लालू ने कहा, 'हालात बिल्कुल ठीक नहीं हैं. मोदी सरकार वादे पूरे नहीं कर रही है. काला धन लाने की बात कही थी. कहा था कि हर भारतीय के खाते में 15 लाख रुपए जमा किए जाएंगे. देश पर जो विदेशी कर्ज है, उसको उतारेंगे.'

आरजेडी प्रमुख ने आगे कहा, 'जो काम यूपीए-1 और यूपीए-2 में हो रहा था, वही ये भी कर रहे हैं. मनरेगा से लेकर सर्वशिक्षा अभियान, एनआरएचएम, प्रधानमंत्री सड़क योजना तक सारे काम पिछली सरकार के हैं.'

काले धन पर लालू ने कहा कि इन्होंने जो एसआईटी बनाई हैं और जी-20 में जो डंका बजाने की बात कर रहे हैं, उसका नतीजा क्या रहा है? क्या काला धन आ गया? पहले 26 लाख करोड़ काले धन की बात करते थे. अब कहते हैं मालूम नहीं, कितना काला धन बाहर है.

जैसे बिहार में आप और नीतीश एक हो गए, क्या वैसे ही यूपी में मुलायम और मायावती भी एक होंगे? इसके जवाब में लालू प्रसाद यादव ने कहा,'हमने अपील की है कि मायावती और मुलायम एक हों. मुलायम सिंह हमारे गठबंधन के मुखिया हैं. उनमें कोई बुराई नहीं है. अगर मायावती साथ नहीं आईं तो जनता उनको मजबूर करेगी कि वह इस गठजोड़ से जुड़ें. अगर वह अखिलेश सरकार को भ्रष्ट सरकार पुकार रही हैं तो सिर्फ इसलिए कि अखिलेश ने यादव समुदाय में जन्म लिया है. वरना अखिलेश की सरकार अच्छी है. पश्चिम बंगाल में वामपंथियों और ममता को भी सोचना पड़ेगा. वरना वहां भी आरएसएस और बीजेपी घुसने की कोशिश कर रहे हैं. उड़ीसा के नवीन पटनायक भी हमारे परिवार का ही हिस्सा हैं.

लेकिन बहुत से लोग ये कहेंगे कि लालू और मुलायम तो जातिवाद की राजनीति करते हैं और जनता विकास चाहती है? इसके जवाब में लालू यादव ने कहा कि दरअसल ये काम आरएसएस ने बिहार में किया. राजपूतों के बीच जाकर प्रचार किया कि मोदी किसी भी क़ीमत पर पीएम नहीं बनेंगे, प्रधानमंत्री तो राजनाथ को बनना है. लोग बहकावे में आ गए और बीजेपी को वोट दे दिया.

वैसे अब आप भी ट्विटर पर आ गए हैं? जवाब में लालू प्रसाद यादव ने कहा, 'मोदी से मुक़ाबला करना है तो ट्विटर पर आना ही पड़ेगा.'

इस सवाल पर कि आपकी पार्टी जीतती है तो मुख्यमंत्री कौन बनेगा? लालू प्रसाद यादव ने जवाब में कहा- हमारा मक़सद सीएम बनना नहीं है. हमारा मक़सद बिहार से बीजेपी की खटिया खड़ी करना है. मुलायम सिंह को हमने अपने दल का मुखिया अधिकृत किया है. आगे की बात फिर हम मिल बैठ कर तय करेंगे. रही बात ये कि मैंने और नीतीश ने पहले एक दूसरे के खिलाफ़ बहुत बयान दिया है तो उसको पकड़ कर अब झांझ तो नहीं बजाएंगे. इन लोगों को हमें रोकना है ये लोग देश को तोड़ना चाहते हैं. ये लोग हिंदू की बात करते हैं, क्या हम लोग हिंदू नहीं है?

जैसे आप पाकिस्तान गए तो वहां आपकी काफ़ी लोकप्रियता देखी गई वैसे ही मोदी जब न्यूयॉर्क और सिडनी गए, वहां आपने लोगों की भीड़ देखी? इस सवाल के जवाब में लालू प्रसाद यादव ने कहा, 'मैं जब पाकिस्तान गया तो मेरे इर्द-गिर्द पाकिस्तानी थे. मोदी जब सिडनी या न्यूयॉर्क गए तो क्या उनके आसपास जो भीड़ थी वो वहां के अंग्रेज़ों की थी. सब वहां गुजराती, एनआरआई और बिज़नेस करने वाले लोग थे. मोदी, मोदी का नारा लगा रहे थे. मीडिया वालों ने भी ख़ूब डंका बजाया. ओबामा लालायित है. इंतज़ार कर रहे हैं. मोदी जी का दर्शन करने के लिये. जैसे बड़ा भारी भगवान निकल कर जा रहे हैं. यही मोदी हैं जिनको वीज़ा नहीं मिला था.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें