scorecardresearch
 

जादवपुर यूनिवर्सिटी में देशविरोधी नारेबाजी के बाद छात्रों के दो गुटों में झड़प, रिपोर्ट तलब

जादवपुर यूनिवर्सिटी में हंगामा हो गया है. देशविरोधी नारेबाजी के मसले पर बुधवार को एबीवीपी और रेडिकल छात्र संगठनों के बीच झड़प हो गई.

X
एबीवीपी और रेडिकल छात्र संगठनों के बीच झड़प एबीवीपी और रेडिकल छात्र संगठनों के बीच झड़प

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी दिल्ली के बाद देशविरोधी नारेबाजी के लिए पश्चिम बंगाल के जादवपुर यूनिवर्सिटी में हंगामा हो गया है. नारेबाजी के मसले पर बुधवार को एबीवीपी और रेडिकल छात्र संगठनों के बीच झड़प हो गई. एबीवीपी कार्यकर्ता दूसरे संगठन की देशविरोधी नारेबाजी से नाराज थे.

अफजल के समर्थन और पीएम मोदी के खिलाफ नारेबाजी
पश्चिम बंगाल के जादवपुर यूनिवर्सिटी में मंगलवार शाम को कैंपस से दक्षिणी कोलकाता तक निकाली गई मशाल जूलूस में रेडिकल छात्र संगठनों के छात्रों ने हिस्सा लिया था. उसमें जमकर नारेबाजी की गई. उनके नारे भी जेएनयू जैसे थे ‘अफजल बोले आजादी’, ‘गिलानी बोले आजादी’. इस दौरान नारे लगाए गए, ‘फ्रीडम फ्रॉम आरएसएस, फ्रीडम फ्रॉम मोदी गवर्नमेंट’, ‘जब कश्मीर ने मांगी आजादी, मणिपुर भी बोली आजादी.’इसके बाद वहां का मामला सरगर्म हो गया.

राज्यपाल ने मुख्य सचिव और वीसी से रिपोर्ट मांगी
पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने मुख्य सचिव वासुदेव बनर्जी और यूनिवर्सिटी के वीसी सुरंजन दास से घटना की रिपोर्ट तलब की है. उन्होंने कहा कि जादवपुर यूनिवर्सिटी कैंपस में जो हुआ, उसका देश का कोई भी नागरिक कड़ी निंदा ही कर सकता है. मैंने रिपोर्ट मंगवाई है. देश विरोधी नारेबाजी करनेवालों पर कार्रवाई की जाएगी.

गृह मंत्रालय ने भी मांगी रिपोर्ट
जादवपुर यूनिवर्सिटी में देशविरोधी नारेबाजी के मामले में केंद्रीय गृहमंत्रालय ने ममता बनर्जी सरकार से रिपोर्ट मांगी है. मामले को लेकर यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर सुरंजन दास ने कहा कि हमारे संस्थान में विभिन्न विचारधाराओं के छात्र साथ-साथ पढ़ते हैं. जरूरत पड़ने पर सब एक साथ खड़े होते हैं. हम अपने स्तर से इस मामले की जांच और कार्रवाई करेंगे.

कन्हैया की गिरफ्तारी के खिलाफ था आयोजन
सीपीएम की छात्र इकाई एसएफआई की स्थानीय समिति के सचिव सामान्य राह ने इस बारे में कहा कि दिल्ली में देशद्रोह के आरोप में कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी का विरोध करने के लिए यह एक व्यापक आयोजन किया गया था. इसमें बहुत से छात्र आए तो जमकर नारेबाजी हुई. एबीवीपी ने इसकी खिलाफत की और बुधवार को इसके जवाब में रैली निकाली. इस दौरान झड़प हो गई. इस दौरान पोस्टर भी फाड़े गए.

बीजेपी ने की तीखी निंदा
केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने जादवपुर यूनिवर्सिटी में लगे देशविरोधी नारेबाजी की निंदा की है. सिंह ने कहा कि लेफ्ट पार्टियों, कांग्रेस और ममत बनर्जी को इस बारे में जवाब देना चाहिए. दिल्ली के बाद पश्चिम बंगाल में लगे देशविरोधी नारेबाजी के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया है. कई संगठनों ने गृह मंत्रालय से वहां भी जेएनयू जैसी कार्रवाई करने की मांग की है.

पश्चिम बंगाल में इसी साल होंगे चुनाव
पश्चिम बंगाल में इसी साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. इस दौरान यह मामला और गरमा सकता है. जेएनयू में देशविरोधी नारों और उसके पीछे वामपंथी छात्र संगठनों के सामने आने के बाद देश में माहौल गर्म है. ऐसे हालात में बंगाल में इस आयोजन के बाद वामपंथी पार्टियों पर जुबानी हमले बढ़ सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें