scorecardresearch
 

साक्षी महाराज समर्थकों ने मीडियाकर्मियों के साथ की बदसलूकी

बीजेपी की ओर से विवादित बयान देने के मामले में साक्षी महाराज को नोटिस देने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. साक्षी महाराज के समर्थकों ने मंगलवार को मीडियाकर्मियों के साथ बदसलूकी की. साक्षी महाराज ने मीडिया कर्मियों को बाहर निकालने के लिए पुलिस को फोन किया.

X

बीजेपी की ओर से विवादित बयान देने के मामले में साक्षी महाराज को नोटिस देने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. साक्षी महाराज के समर्थकों ने मंगलवार को मीडियाकर्मियों के साथ बदसलूकी की. साक्षी महाराज ने मीडिया कर्मियों को बाहर निकालने के लिए पुलिस को फोन किया.

साक्षी महाराज ने बीजेपी की ओर से नोटिस मिलने की बात पर कहा कि ये हमारे घर का मामला है. आप मीडिया वालों से इसका क्या लेना देना. साक्षी महाराज ने आज तक से फोन पर कहा कि मैं पार्टी का छोटा सा कार्यकर्ता हूं. अगर पार्टी मेरी किसी बात से सहमत नहीं है तो उसे यह अधिकार है कि वो मुझे नोटिस दे. लेकिन अभी तक इस मामले में मुझे पार्टी की ओर से कोई नोटिस नहीं मिला है. अगर मुझे नोटिस मिला तो मैं इसका जवाब दूंगा.

याद रहे कि बीजेपी ने विवादित बयान मामले में सांसद साक्षी महाराज को कारण बताओ नोटिस जारी किया था. पार्टी ने 10 दिनों के भीतर सांसद से उनके द्वारा दिए गए सभी विवादित बयानों पर सफाई मांगी है. उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज ने हाल ही हिंदू महिलाओं को चार बच्चे पैदा करने की सलाह दे दी थी, जिस पर जमकर सियासी घमासान मचा था.

बताया जाता है कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं समेत अध्यक्ष अमित शाह साक्षी महाराज के बयानों से परेशान हो चुके हैं. साक्षी महाराज ने हाल ही संत समागम महोत्सव में कहा था कि देश में चार पत्नियों और 40 बच्चों का फार्मूला नहीं चलेगा. अब समय आ गया है जब हिन्दू धर्म की रक्षा के लिए हिन्दू महिलाएं कम से कम चार बच्चे पैदा करें.

इससे पहले बीजेपी सांसद ने कहा था कि लव जेहाद के लिए विदेशों से पैसा आ रहा है और इसके लिए हर धर्म का अलग रेट तय है. यही नहीं, उन्होंने कहा कि मदरसों को आतंकवाद का पाठ पढ़ाया जाता है और मदरसे आतंकवाद की शि‍क्षा का गढ़ हैं. यही नहीं, साक्षी महाराज ने महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे को भी देशभक्त बता दिया था. हालांकि विवाद खड़ा होने के बाद साक्षी महाराज अपने बयान से पलट गए थे और उन्होंने दावा किया कि उन्होंने गोडसे को कभी भी राष्ट्रभक्त नहीं बताया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें