scorecardresearch
 

ईरान में बंधक जहाज में फंसे भारतीयों की रिहाई के लिए कोशिश जारी: एस जयशंकर

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि ईरान में जब्त किए गए तेल टैंकर 'स्टेना इम्पेरो' पर फंसे 18 भारतीयों को जल्द रिहा कराने का काम तेजी से किया जा रहा है. 

विदेश मंत्री एस जयशंकर (IANS) विदेश मंत्री एस जयशंकर (IANS)

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि ईरान में जब्त किए गए तेल टैंकर 'स्टेना इम्पेरो' पर फंसे 18 भारतीयों को जल्द रिहा कराने का काम तेजी से किया जा रहा है. तेहरान में हमारे दूतावास के अधिकारियों ने उन भारतीयों से मुलाकात की और उनकी सेहत सही है. विदेश मंत्री का कहना है कि हम इस मामले को हल करने के लिए ईरानी अधिकारियों के लगातार संपर्क में बने हुए हैं.

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने शनिवार को विदेश मंत्री एस.जयशंकर से आग्रह किया कि वह ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड द्वारा हिरासत में लिए गए तेल टैंकर 'स्टेना इंपेरो' पर सवार 18 भारतीय नाविकों को रिहा कराने का अधिकारियों को निर्देश दें. इसके बाद ही विदेश मंत्री ने इसकी जानकारी साझा की है.

जयशंकर को लिखे एक पत्र में पलानीस्वामी ने कहा है कि चेन्नई में निवासी 27 वर्षीय आदित्य वासुदेवन और अन्य 22 नाविकों को तब हिरासत में ले लिया गया था, जब उनकी नौका जब्त कर ली गई. वर्तमान में कुल 18 भारतीय नाविक ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड की हिरासत में हैं.

पलनीस्वामी का यह पत्र मीडिया को जारी किया गया है. पलानीस्वामी ने कहा है, "ब्रिटेन में पंजीकृत तेल टैंकर 'स्टेना इंपेरो' में वासुदेवन तीसरे अधिकारी के रूप में काम करते हैं. संयुक्त अरब अमीरात के फुजैरा से सऊदी अरब के जुबैल जाते वक्त होरमुज जलडमरूमध्य में तेल टैंकर को जब्त कर लिया गया."

ईरान ने टैंकर एमटी रिआह पर सवार 12 भारतीय क्रू सदस्यों में से नौ को रिहा कर दिया है. ईरान ने इस टैंकर को होरमुज खाड़ी से 13 जुलाई को जब्त किया गया था. इसके साथ इस पर और दो अन्य जहाजों पर सवार अन्य भारतीयों को रिहा कराए जाने के प्रयास जारी हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें