scorecardresearch
 

रोहित वेमुला सुसाइड: कांग्रेस दिल्ली में निकालेगी प्रोटेस्ट मार्च, स्मृति का मांगा इस्तीफा

सुसाइड करने वाले छात्र रोहित द्वारा लिखे गए सुसाइड लेटर को फॉरेंसिक लैब भेजा जाएगा जहां रोहित की लिखावट की जांच की जाएगी.

रोहित वेमुला रोहित वेमुला

हैदराबाद यूनिवर्सिटी में दलित छात्र रोहित वेमुला की आत्महत्या के बाद शुरू हुई राजनीति धमने का नाम नहीं ले रही है. कांग्रेस मामले में सीधे-सीधे केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी को जिम्मेदार ठहराते हुए उनका इस्तीफा मांग रही है.

केन्द्रीय मंत्री के इस्तीफे की मांग को लेकर आज एनएसयूआई के कार्यकर्ता प्रोटेस्ट मार्च निकालेंगे. मार्च रायसीना रोड से शुरू होगा. प्रोटेस्ट में कांग्रेस के कई सीनियर नेता भी शामिल होंगे. कांग्रेस नेता मुकुल वासनिक, रणदीप एस सुरजेवाला और एनएसयूआई अध्यक्ष रोजी ए जॉन कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे.

सुसाइड लेटर की फॉरेंसिक जांच
सुसाइड करने वाले रोहित द्वारा लिखे गए सुसाइड लेटर को फॉरेंसिक लैब भेजा जाएगा जहां रोहित की लिखावट की जांच की जाएगी.

इस्तीफों का दौर
दलित छात्र रोहित वेमुला सुसाइड मामले में अभी तक विश्वविद्यालय स्टाफ के 14 सदस्यों ने इस्तीफा दे दिया है. वीसी अप्पा राव के भी इस्तीफे की मांग जोर पकड़ रही है. उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

निलंबन वापस लिया
इस बीच, हैदराबाद यूनिवर्सिटी की एग्जीक्यूटिव काउंसिल ने गुरुवार को बैठक के बाद तुरंत प्रभाव से सभी चार छात्रों का निलंबन वापस ले लिया. रोहित भी पांच निलंबित छात्रों में से एक था.

स्मृति ने किया था दत्तात्रेय का समर्थन
रोहित सुसाइड केस में केंद्रीय मंत्री बंडारू दत्तात्रेय के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज हुई है. दत्तात्रेय पर आरोप है कि उन्होंने ही दलित स्कॉलर्स पर कार्रवाई के लिए एचआरडी मिनिस्टर स्मृति ईरानी को लेटर लिखा था. लेकिन स्मृति ईरानी ने बंडारू दत्तात्रेय का बचाव करते हुए उन्होंने कहा कि छात्र के सुसाइड नोट में किसी संस्था, दल या अधिकारी का जिक्र नहीं. यह मामला दलित बनाम गैर दलित का नहीं है, जैसा कि इसे पेश किया जा रहा है. स्मृति ईरानी के इस बयान के बाद हैदराबाद यूनिवर्सिटी के 14 दलित प्रोफेसर अबतक प्रशासनिक पद छोड़ चुके हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें