scorecardresearch
 

राष्ट्रपति चुनाव: नामांकन के बाद बोले रामनाथ कोविंद- संविधान की सर्वोच्चता बनाए रखना जिम्मेदारी

राजग की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने संसद भवन में अपना नामांकन भर दिया है. इस दौरान कोविंद के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी भी मौजूद रहे.

रामनाथ कोविंद का नामांकन रामनाथ कोविंद का नामांकन

राजग की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने संसद भवन में अपना नामांकन भर दिया है. इस दौरान कोविंद के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी भी मौजूद रहे. कोविंद के नामांकन में कुल 480 प्रस्तावक बने, पीएम मोदी, लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी कोविंद के प्रस्तावक बने.

पद की गरिमा बनाए रखूंगा
नामांकन दाखिल करने के बाद रामनाथ कोविंद ने कहा कि राष्ट्रपति का पद लोकतंत्र का सबसे गरिमामय पद है. उन्होंने कहा कि समर्थन करने वाले सभी दलों का आभार व्यक्त करता हूं. उन्होंने कहा कि हमारे देश में संविधान सर्वोपरि है और इसकी गरिमा बनाई रखना हमारी जिम्मेदारी है. उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति का पद दलगत राजनीति से ऊपर होना चाहिए. कोविंद बोले कि कुछ ही वर्षों में हम आजादी के 75 साल पूरे होंगे इसके लिए हमें अभी से तैयार होना होगा. उन्होंने कहा कि मैं सभी को विश्वास दिलाता हूं कि मैं इस पद की गरिमा बनाए रखने का हर संभव प्रयास करुंगा.

योगी आदित्यनाथ ने बोला कांग्रेस पर हमला
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारी पार्टी का लक्ष्य देश के अंतिम व्यक्ति का विकास है, हमारी पार्टी उसी पर आगे बढ़ रही है. रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाने के लिए अमित शाह और पीएम मोदी का आभार व्यक्त करता हूं. योगी ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि अगर कांग्रेस पार्टी को मीरा कुमार को उम्मीदवार बनाना ही था तो वह पिछली बार भी बना सकते थे, लेकिन क्योंकि बीजेपी ने कोविंद जी का नाम आगे किया इसलिए लोगों को लड़वाने के लिए कांग्रेस ने मीरा कुमार का चुनाव किया. इससे पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और रामनाथ कोविंद एक ही वाहन में बैठकर नामांकन भरने के लिए रवाना हुए थे.

 


दिग्गजों का जमावड़ा
कोविंद के नामांकन के लिए बीजेपी दिग्गजों का जमावड़ा संसद भवन में रहा. अभी तक प्रकाश सिंह बादल, रामविलास पासवान, मेनका गांधी, जनरल वी. के. सिंह, मुख्तार अब्बास नकवी,  कैलाश विजयवर्गीय, थावरचंद गहलोत, शिवराज सिंह चौहान, संसद भवन पहुंच गए हैं. इसके अलावा गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह भी पहुंचे.

Will accompany Shri Ram Nath Kovind Ji as he files his nomination papers today for the upcoming Presidential election.

फंस गए नीतीश? राष्ट्रपति चुनाव अब सेक्युलर बनाम भाजपा है

नामांकन पत्र के चार सेट तैयार किए गए हैं, जिनपर मोदी, शाह, तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) अध्यक्ष व आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन.चंद्रबाबू नायडू तथा पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के हस्ताक्षर होंगे. 17 जुलाई को होने वाले चुनाव में कोविंद की जीत तय मानी जा रही है, हालांकि मुकाबला होना तय है. विपक्षी पार्टियों ने गुरुवार को लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष मीरा कुमार को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया.

 

शिवसेना तथा जम्मू एवं कश्मीर की पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) सहित राजग के पास सांसदों व विधायकों के इलेक्टोरल कॉलेज का 48.93 फीसदी समर्थन है. गठबंधन से बाहर की पार्टियों जैसे तेलंगाना राष्ट्र समिति (2 फीसदी), ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (5.39 फीसदी), वाईएसआर कांग्रेस (1.53 फीसदी), बीजू जनता दल (2.99 फीसदी), जनता दल (युनाइटेड) के 1.91 फीसदी मतों को मिलाकर राजग आधा मत आसानी से प्राप्त कर लेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें