scorecardresearch
 

शिवसेना को रास नहीं आया राहुल का बयान, कहा- सावरकर पूरे देश के लिए भगवान जैसे

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि सावरकर सिर्फ महाराष्ट्र के नहीं, बल्कि पूरे देश के हैं. सावरकर का सम्मान होना चाहिए. नेहरू-गांधी की तरह सावरकर ने भी देश के लिए अपना जीवन लगा दिया. ऐसे हर महानायक का सम्मान करने की जरूरत है.

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ संजय राउत (फाइल फोटो-PTI) शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ संजय राउत (फाइल फोटो-PTI)

  • राहुल के बयान के बाद सामने आई सावरकर पर शिवसेना की प्रतिक्रिया
  • संजय राउत ने कहा कि देश के लिए भगवान जैसे हैं सावरकर
  • राहुल गांधी ने कहा था मेरा नाम राहुल गांधी, राहुल सावरकर नहीं है

दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित कांग्रेस की भारत बचाओ रैली में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. साथ ही रेप इन इंडिया वाले बयान पर कहा कि मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं, राहुल गांधी है. सच्चाई के लिए कभी माफी नहीं मांगूंगा. वहीं सावरकर का नाम लेकर दिए बयान पर अब शिवसेना ने प्रतिक्रिया दी है.

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि सावरकर सिर्फ महाराष्ट्र के नहीं, बल्कि पूरे देश के हैं. सावरकर का सम्मान होना चाहिए. नेहरू-गांधी की तरह सावरकर ने भी देश के लिए अपना जीवन लगा दिया. ऐसे हर महानायक का सम्मान करने की जरूरत है.

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि वीर सावरकर पूरे देश के लिए भगवान की तरह हैं, महाराष्ट्र के लिए नहीं. सावरकर के नाम पर आत्मसम्मान है, साथ ही देश को भी गर्व है. नेहरू और गांधी की तरह सावरकर ने भी अपना पूरा जीवन देश के लिए समर्पित किया. हमें ऐसे हर भगवान जैसे लोगों का आदर करना चाहिए. इस बात पर हम कोई समझौता नहीं कर सकते.

संजय राउत ने कहा कि हम महात्मा गांधी और जवाहर लाल नेहरू दोनों को मानते हैं, लेकिन आप सावरकर का अपमान न करें.

वैचारिक स्तर पर बंटी हुई दोनों राजनीतिक पार्टियां महाराष्ट्र में एक-दूसरे की सहयोग से सरकार चला रही हैं. शिवसेना ने वर्षों पुरानी भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) के साथ दोस्ती तोड़कर अब कांग्रेस और नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी  के साथ मिलकर सरकार बनाई है. कांग्रेस जहां सावरकर पर हमेशा राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ और बीजेपी को घेरती रहती है, वहीं शिवसेना सावरकर को महापुरुष मानती आई है.

शिवसेना और बीजेपी दोनों पार्टियों के लिए सावरकर प्रतीक पुरुष हैं. ऐसे में गठबंधन के बावजूद शिवसेना के लिए कांग्रेस की विचारधारा से जुड़ पाना बेहद मुश्किल साबित होने वाला है. दरअसल शनिवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित 'भारत बचाओ रैली' में एक बार फिर से राहुल आक्रामक मुद्रा में नज़र आए.

बीजेपी के माफी मांगने वाले सवाल पर पलटवार करते हुए उन्होंने कहा कि उनका नाम 'राहुल सावरकर' नहीं हैं और वह कभी माफी नहीं मांगने वाले हैं. उन्होंने 'भारत बचाओ रैली' में कहा, 'कांग्रेस का कार्यकर्ता किसी से नहीं डरता और देश के लिए जान देने के लिए तैयार रहता है.'

राहुल गांधी ने कहा था कि संसद में भाजपा के लोगों ने कहा कि मैं भाषण के लिए माफी मांगू. मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं, राहुल गांधी है . माफी नहीं मांगूंगा. मर जाऊंगा लेकिन माफी नहीं मांगूंगा. मोदी और अमित शाह को माफी मांगनी है. पूरी दुनिया हमारी तरफ देख रही थी. हमारी शक्ति अर्थव्यवस्था थी. लोग दुनिया का भविष्य चीन और भारत को बोलते थे. वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान पर पलटवार करते हुए बीजेपी नेता संबित पात्रा ने कहा है कि राहुल गांधी 1000 जन्म भी लेंगे तो वीर सावरकर की बराबरी नहीं कर सकते.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें