scorecardresearch
 

राफेल पर राजनीति फेल! SC के फैसले के बाद PM मोदी से मिलीं रक्षा मंत्री

राफेल विमान सौदे पर घिरी मोदी सरकार को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिली है. सुप्रीम कोर्ट ने राफेल डील को बिल्कुल सही बताया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

राफेल विमान सौदे पर सुप्रीम कोर्ट से मिली क्लीन चिट के बाद मोदी सरकार ने आक्रामक रुख अपना लिया है. कांग्रेस पिछले काफी समय से जिस मुद्दे सरकार को घेर रही थी, अब बीजेपी और केंद्र सरकार ने कांग्रेस पर पलटवार शुरू कर दिया है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बादरक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. 

रक्षा मंत्री और प्रधानमंत्री की ये मुलाकात राफेल विमान सौदे पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से जुड़ी थी. रक्षा मंनिर्मला सीतारमण, और वित्त मंत्री अरुण जेटली शाम 4 बजे राफेल मुद्दे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करेंगे. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राफेल मुद्देपर संसद में भी जमकर हंगामा हुआ.

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में कांग्रेस पार्टी पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी और उनके अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जो आरोप लगाए थे, उसको लेकर माफी मांगनी चाहिए. राजनाथ सिंह ने कहा कि राहुल गांधी कोसदन में आकर माफी मांगनी चाहिए.

पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया. मनोहर पर्रिकर ने ट्वीट किया कि 'सत्यमेव जयते'. आपको बता दें कि जिस दौरान राफेल डील हुई थी, तब पर्रिकर ही देश के रक्षा मंत्री थे.

क्या है सुप्रीम कोर्ट का फैसला?

गौरतलब है कि अपना फैसला पढ़ते हुए चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि राफेल सौदे में कोई संदेह नहीं है. राफेल की गुणवत्ता में पर कोई सवाल नहीं है. हमने सौदे की पूरी प्रक्रिया पढ़ी है. विमान की कीमत देखना हमारा काम नहीं है. सुप्रीम कोर्ट ने राफेल सौदे की जांचको लेकर सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें