scorecardresearch
 

AAP सांसद की SC में याचिका- मोदी की राफेल डील रद्द कर UPA वाली बहाल करें

राफेल डील पर राजनीतिक बयानबाजी लगातार जारी है, इस बीच एक बार फिर ये मुद्दा सर्वोच्च अदालत के दर पर पहुंचा है. SC आज ही इस पर सुनवाई करेगा.

X
सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो, रॉयटर्स) सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो, रॉयटर्स)

बहुचर्चित राफेल लड़ाकू विमान डील विवाद अभी पूरी तरह से थमा नहीं है. एक बार फिर इस मसले पर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है. सोमवार राफेल मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में कुल दो याचिका डाली गई हैं. आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने याचिका दायर कर इस डील को रद्द करने की मांग की है.

उन्होंने अपील की है कि राफेल की पुरानी डील (UPA शासन में की गई 126 विमान) को बहाल किया जाए और नई डील (NDA शासन में की गई 36 विमान वाली डील) को रद्द कर दिया जाए.

संजय सिंह से पहले वकील विनीत ढांडा ने याचिका दायर करते हुए मांग की है कि फ्रांस और भारत के बीच आखिर क्या समझौता हुआ है उसे सार्वजनिक किया जाए. इसके अलावा मांग की गई है कि राफेल की वास्तविक कीमत भी सभी को बताया जाए.

बता दें कि इससे पहले भी एक और याचिका दायर की गई थी, जिसपर 10 अक्टूबर को सुनवाई होनी है. पिछली सुनवाई याचिकाकर्ता की तबीयत खराब होने के कारण टल गई थी.

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में विपक्षी पार्टियां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरने में जुटी हुई हैं. राहुल गांधी लगातार इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री की चुप्पी पर सवाल उठा रहे हैं.

क्या हैं कांग्रेस के आरोप?

राहुल गांधी और कांग्रेस पिछले कई महीनों से यह आरोप लगाते आ रहे हैं कि मोदी सरकार ने फ्रांस की कंपनी दसाल्ट से 36 राफेल लड़ाकू विमान की खरीद का जो सौदा किया है, उसका मूल्य पूर्ववर्ती यूपीए सरकार में विमानों की दर को लेकर जो सहमति बनी थी उसकी तुलना में बहुत अधिक है. इससे सरकारी खजाने को हजारों करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है. पार्टी ने यह भी दावा किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सौदे को बदलवाया और एचएएल से ठेका लेकर रिलायंस डिफेंस को दिया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें