scorecardresearch
 

डरी हुई है मोदी सरकार, मंदी को छुपाने के लिए घटाया टैक्स: पुदुचेरी सीएम

सुस्‍त पड़ी अर्थव्‍यवस्‍था को रफ्तार देने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कॉरपोरेट टैक्‍स में राहत देने का ऐलान किया. जिसको लेकर पुडुचेरी के मुख्यमंत्री नारायणसामी ने मोदी सरकार पर हमला बोला है. सीएम नारायणसामी ने कहा है कि कॉरपोरेट टैक्स में कमी करना दिखाता है कि मोदी सरकार डरी हुई है.

पुडुचेरी के मुख्यमंत्री नारायणसामी (Courtesy- Twitter) पुडुचेरी के मुख्यमंत्री नारायणसामी (Courtesy- Twitter)

देश की सुस्‍त पड़ी अर्थव्‍यवस्‍था को रफ्तार देने के लिए केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कॉरपोरेट टैक्‍स में राहत देने का ऐलान किया है, जिसको लेकर पुडुचेरी के मुख्यमंत्री नारायणसामी ने मोदी सरकार पर हमला बोला है. सीएम नारायणसामी ने कहा कि कॉरपोरेट टैक्स में कमी करना दिखाता है कि मोदी सरकार डरी हुई है.

सीएम नारायणसामी ने कहा कि सरकार आर्थिक मंदी को छुपाने की कोशिश करने के तहत कदम उठा रही है. इससे पहले लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से कॉरपोरेट टैक्स में कटौती के ऐलान को पीएम मोदी के अमेरिकी दौरे से जोड़ा. उन्होंने कहा कि केंद्रीय वित्तमंत्री सीतारमण की घोषणा पीएम मोदी के ह्यूस्टन दौरे से ठीक पहले आया है. ह्यूस्टन को अमेरिका की ऊर्जा-राजधानी माना जाता है.

चौधरी ने आरोप लगाया कि इसके जरिए मोदी सरकार कॉरपोरेट सेक्टर को खुश करने की कोशिश कर रही है, जबकि अर्थव्यवस्था के संकट से गुजरने के बावजूद आम आदमी को कोई राहत नहीं दी जा रही है.

वहीं, मोदी सरकार के कार्पोरेट्स को दिए गए 1,45,000 करोड़ रुपये के प्रोत्साहन से भारतीय कारोबारी जगत में खुशी की लहर दौड़ पड़ी. घरेलू कंपनियों के लिए कॉर्पोरेट कर को घटाकर 22 फीसदी कर दिया गया और नए विनिर्माण कंपनियों के लिए टैक्स की दर को घटाकर 15 फीसदी कर दिया गया है. इसका मकसद पूंजी बाजार को बढ़ावा देना है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें