scorecardresearch
 

प्रकाश पर्व पर मोदी-नीतीश साथ, एक दूसरे के कामों पर हुए फिदा

प्रकाश पर्व के अवसर पर पटना में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जमकर तारीफ की. पीएम मोदी ने शराबबंदी और नशाबंदी को लेकर बिहार में चल रहे प्रयास को सराहा और कहा कि सामाजिक मुद्दों की छुने की कोशिश बहुत कम लोग करते है, लेकिन नीतीश कुमार ने साहस दिखाया.

पीएम मोदी के साथ नीतीश कुमार पीएम मोदी के साथ नीतीश कुमार

प्रकाश पर्व के अवसर पर पटना में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जमकर तारीफ की. पीएम मोदी ने शराबबंदी और नशाबंदी को लेकर बिहार में चल रहे प्रयास को सराहा और कहा कि सामाजिक मुद्दों की छुने की कोशिश बहुत कम लोग करते है, लेकिन नीतीश कुमार ने साहस दिखाया.

सीएम नीतीश ने इशारों में की देशभर में शराबबंदी की मांग
पीएम मोदी से पहले नीतीश कुमार ने शराबबंदी की चर्चा की और इशारों इशारों में कहा कि इसे देश में लागू कर दिए जाए तो देश काफी आगे बढ़ सकता है. नीतीश कुमार ने खालसा पंत के संस्थापक गुरु गोविंद सिंह की चर्चा करते हुए कहा कि वे त्याग, बलिदान और सहिष्णुता के परिचायक हैं. उन्होंने बिहार की धरती को ज्ञान की धरती बताया और कहा कि यह महात्माओं की जन्मस्थली भी हैं.

प्रकाश पर्व के सफल आयोजन पर नीतीश की सराहना
वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरु गोविंद सिंह के 350वें प्रकाश पर्व के सफल आयोजन के लिए नीतीश कुमार की जमकर प्रशंसा की. उन्होंने कहा कि हमें बताया गया कि नीतीश कुमार ने खुद इस पूरे कार्यक्रम की बारिकियों से मॉनेटरिंग की और इसका नतीजा है कि यह आयोजन सफल हुआ और पटना से पूरे विश्व में मानवता का संदेश गया.

नशाबंदी के लिए भी नीतीश कुमार को पीएम की बधाई
प्रधानमंत्री ने नशाबंदी के लिए भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बधाई दी. उन्होंने कहा कि यह सामाजिक परिवर्तन का दौर है. इसमें सबको साथ मिल कर चलना होगा. यह किसी एक व्यक्ति या फिर एक राजनीतिक दल का काम नहीं है. शराबबंदी एक मिसाल है.

प्रधानमंत्री ने एक तरफ नशाबंदी का मुद्दा उठकर पंजाब में हो रहे चुनाव के लिए एक संदेश दिया है, क्योंकि नशाबंदी पंजाब में एक बहुत बड़ा चुनावी मुद्दा भी है. दुसरी तरफ यह भी जता दिया कि वह शराबबंदी के पक्ष में हैं, अगर सहमति बनती है तो देश भर में लागू करने में उन्हें कोई गुरेज नहीं. नीतीश कुमार ने भी अपने संबोधन में यह कहा कि मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तो बहुत अच्छे तरीके से शराबबंदी को लागू किया था.

पीएम ने गुरुग्रंथ साहिब का दर्शन कर मत्था टेका
पीएम गुरुवार को एयरपोर्ट से सीधे गांधी मैदान पहुंच थे. यहां पीएम ने सबसे पहले वे गुरुग्रंथ साहिब का दर्शन कर मत्था टेका. इसके पहले आज सुबह प्रधानमंत्री मोदी ने इस बारे में ट्वीट कर कहा, 'गुरु गोविंद सिंह जी के 350वें प्रकाश पर्व का हिस्सा बनना मेरे लिए खुशी की बात है. गुरु गोविंद सिंह को अदम्य साहस और विराट ज्ञान हासिल था. उनकी बहादुरी के किस्से आज भी हर भारतीय के दिल-दिमाग में कायम हैं.'

प्रकाश पर्व के उद्घाटन समारोह में प्रधानमंत्री के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली, राज्यपाल रामनाथ कोविंद, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सहित कई केंद्रीय मंत्री शामिल हुए. इस कार्यक्रम इसमें शामिल होने के लिए अपने बेटों के संग लालू प्रसाद यादव भी पहुंचे थे.

इस पूरे कार्यक्रम के लिए बहुत खास सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं. इसके लिए 13000 पुलिसकर्मी और 1200 मजिस्ट्रेट, 69 पैट्रोलिंग टीमें तैनात की गई हैं. 25 दिसंबर के बाद से ही 85 वाच टावरों से निगरानी जारी है. गुरु गोविंद सिंह जी के 350वें प्रकाशोत्सव पर्व में भाग लेने के लिए बुधवार तक तीन लाख श्रद्धालु पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश के साथ विदेशों से पटना पहुंचे गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×