scorecardresearch
 

मोदी-मून के बीच हुई द्विपक्षीय वार्ता, भारत-दक्षिण कोरिया में 7 समझौते

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन अपने चार दिवसीय दौरे पर भारत में हैं. मंगलवार को भारत और दक्षिण कोरिया के बीच द्विपक्षीय वार्ता हुई, इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कोरियाई राष्ट्रपति मून जे इन ने हैदराबाद हाउस में चर्चा की.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन (फाइल फोटो) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन (फाइल फोटो)

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन अपने चार दिवसीय दौरे पर भारत में हैं. मंगलवार को भारत और दक्षिण कोरिया के बीच द्विपक्षीय वार्ता हुई, इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कोरियाई राष्ट्रपति मून जे इन ने हैदराबाद हाउस में चर्चा की. मंगलवार सुबह दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति का राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत हुआ. साझा प्रेस वार्ता में दोनों देशों के प्रमुखों ने कुल सात समझौते पर हस्ताक्षर किए. दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 2020 में उनके देश आने का न्योता दिया. 

बैठक के बाद साझा वार्ता को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरिया गणराज्य की प्रगति विश्व में अपने आप में एक अनूठा उदाहरण है. कोरिया के जनमानस ने दिखाया है कि यदि कोई देश एक समान vision और उद्देश्य के प्रति वचनबद्ध हो जाता है तो असंभव लगने वाले लक्ष्य भी प्राप्त किए जा सकते हैं. कोरिया की यह प्रगति भारत के लिए भी प्रेरणादायक है.

PM बोले कि यह बहुत प्रसन्नता का विषय है कि कोरिया की कंपनियों ने भारत में न सिर्फ़ बड़े स्तर पर निवेश किया है, बल्कि हमारे Make in India mission से जुड़ कर भारत में रोजगार के अवसर भी पैदा किया है.

उन्होंंने कहा कि भारत की Act East Policy और कोरिया गणराज्य की New Southern Strategy में स्वाभाविक एकरसता है. मैं राष्ट्रपति मून के इस विचार का हार्दिक स्वागत करता हूँ कि भारत और कोरिया गणराज्य के संबंध उनकी New Southern Strategy का एक आधार स्तम्भ हैं.

दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मंगलवार को ही अपनी पत्नी के साथ राजघाट भी गए. यहां उन्होंने महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी.

सोमवार को दोनों ने नोएडा में दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री का उद्घाटन किया था. द्विपक्षीय वार्ता के अलावा दोनों नेता भारत-रिपब्लिक ऑफ कोरिया के सीईओ को भी संबोधित करेंगे. दोनों नेता बैठक में इकॉनोमिक, निवेश आदि पर चर्चा करेंगे. कोरियाई राष्ट्रपति बुधवार को अपने देश वापस लौटेंगे.

नोएडा को मिली सबसे बड़ी सौगात

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन ने मंगलवार को नोएडा को दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री की सौगात दी. दोनों नेताओं ने संयुक्त रूप से फीता काटकर इस प्रोजेक्ट का शुभारंभ किया.

नोएडा स्थित सैमसंग मोबाइल कंपनी के इस कार्यक्रम में पीएम मोदी और साउथ कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन ने इस प्रोजेक्ट के बारे में बताया. पीएम मोदी ने कहा कि इस फैक्ट्री से जहां रोजगार के अवसर पैदा होंगे, वहीं यह यूनिट मेक इन इंडिया को भी गति देगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें