scorecardresearch
 

ओबामा ने कबूला मोदी का न्योता, 26 जनवरी के चीफ गेस्ट होंगे अमेरिकी राष्ट्रपति

गणतंत्र दिवस पर दुनिया के सबसे ताकतवर शख्स के सामने शक्ति प्रदर्शन की तैयारी है. मोदी सरकार ने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को 26 जनवरी को मुख्य अतिथि बनने के लिए न्योता भेजा है. ओबामा ने मोदी का न्योता कबूल कर लिया है.

File photo: नरेंद्र मोदी और बराक ओबामा File photo: नरेंद्र मोदी और बराक ओबामा

गणतंत्र दिवस पर दुनिया के सबसे ताकतवर शख्स के सामने शक्ति प्रदर्शन की तैयारी है. मोदी सरकार ने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को 26 जनवरी को मुख्य अतिथि बनने के लिए न्योता भेजा है. ओबामा ने मोदी का न्योता कबूल कर लिया है.

ओबामा जनवरी 2015 में भारत की यात्रा पर आएंगे. ये पहला मौका होगा जब कोई अमेरिकी राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस के मौके पर चीफ गेस्ट बनेगा. इस दौरान ओबामा और मोदी दोनों देशों के बीच रिश्ते मजबूत करने को लेकर बात कर सकते हैं.

राष्ट्रपति ओबामा की नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल (NSC) के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से घोषणा की गई कि अमेरिकी राष्ट्रपति ने यह न्योता स्वीकार कर लिया है.

NSC प्रेस ने ट्वीट्स किएः




इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया था-

गौरतलब है कि यह ओबामा की दूसरी भारत यात्रा होगी. इससे पहले वो यूपीए के कार्यकाल में नवंबर 2010 में भारत आ चुके हैं. मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद इन दोनों की पहली मुलाकात अमेरिका में हुई थी. मोदी के अमेरिकी दौरे पर ओबामा ने उन्हें डिनर पर बुलाया था.

इसके बाद आसियान सम्मेलन के गाला डिनर में ओबामा ने मोदी से हाथ मिलाकर कहा था, 'यू आर मैन ऑफ ऐक्शन'. पिछले साल जापान के प्रधानमंत्री शिंजो एबे को चीफ गेस्ट के तौर पर बुलाया गया था. भारत के पहले गणतंत्र दिवस (1950) पर इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुकारनो चीफ गेस्ट बने थे.

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, फ्रांस के राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी भी गणतंत्र दिवस के मौके पर चीफ गेस्ट बन चुके हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें