scorecardresearch
 

उरी हमले पर बोले लालू प्रसाद- मोदी जी का 56 इंच का सीना सिकुड़ गया है

राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद ने उरी हमले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर वार किया. आज तक से खास बातचीत में लालू ने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले मोदी जी 56 इंच का सीना कहकर ललकारते थे, लेकिन अब उनका 56 इंच का सीना सिकुड़ गया है. उ

राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद

आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने उरी में हुए सेना के बेस पर हमले की कडी निंदा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस्तीफे की मांग की है. आज तक से खास बातचीत में लालू ने कहा कि देश आरएसएस, बीजेपी और मोदी के हाथों में सुरक्षित नहीं है. लालू ने कहा कि 56 इंच का सीना सिकुड़ क्यों गया, ये तो मोदी जी ही बताएंगे.

लालू ने कहा कि हमारे जवान जान जोखिम में डाल कर देश की रक्षा करते हैं, लेकिन इतनी दर्दनाक घटनाएं पहले नहीं होती थी अब तो लगातार इस तरह की घटनाएं हो रही हैं. कारगिल का मसला अलग है उस पर हम बाद में बात करेंगे. लेकिन चुनाव से पहले मोदी जी कहा करते थे कि 56 इंच का सीना है, पाकिस्तान आंख में आंख डाल कर बात नहीं करेगा. बीजेपी को इतना बहुमत मिलने के बाद ये हालत है कि लगातार घटानाएं हो रही है. जिस सेना की वजह से हम चैन से सोते हैं उस पर कोई ध्यान नहीं है. हम इस हमले की निंदा करते है. लेकिन केवल निंदा करने से ही बात खत्म नही हो जाती है.

जम्मू कश्मीर में शांति स्थापित करना हो प्राथमिकता
लालू ने कहा कि यह कायरतापूर्ण कार्रवाई हुई है. बिहार रेजिमेंट के जवानों ने देश की सुरक्षा में अपनी शहादत दे दी. श्रीनगर के कुछ इलाके में लगातार कर्फ्यू लगा हुआ है. स्थिति बहुत अलार्मिंग हैं. आंतरिक और बाहरी दोनों खतरे हैं, लेकिन ये हमेशा कहते है कि कार्रवाई करेंगे. पठानकोट में यही हुआ. वो लोग हमारे सबसे बड़े एयरबेस में घुस कर कार्रवाई कर चले गए और हम पीठ थपथपाते रहे कि चार मार दिए. जम्मू और कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है. यहां शांति स्थापित करना प्राथमिकता होनी चाहिए.

लालू ने कहा कि जब भी इस तरह की घटनाएं होती हैं, हमारे सैनिकों को कोई स्पष्ट निर्देश नहीं मिलता. देश गुस्से में होता है तो कहते है कि कार्रवाई करेंगे लेकिन क्या कार्रवाई करते है. अब क्या कार्रवाई होनी चाहिए ये तो देश के सैनिकों से पूछना चाहिए कि वो क्या चाहते हैं. उनको भरोसे में लेना चाहिए. आपकी आईबी क्या करती रहती है. रॉ क्या कर रहा है. अलर्टनेस नही रहेगा तो स्थिति को काबू कहां से करेंगे. हम देश के सैनिकों को सलाम करते हैं.

'बार-बार ऐसी घटनाओं से देश स्तब्ध'
आरजेडी सुप्रीमो ने कहा कि मोदी को देखना है कि वो क्या करेंगे. 56 इंच का सीना सिकुड़ क्यों गया, ये तो वो बताएंगे. इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. सरकार में वो हैं, पावर उनके पास है, एक्ट उनको करना है. जिम्मेदारी उनकी है. हमारा फर्ज है कि हम लोगों से क्या सहयोग लेना चाहते हो. लेकिन मैं इतना जानता हूं कि देश उनके हाथों में सुरक्षित नहीं है. बार-बार ऐसी घटनाओं से पूरा देश स्तब्ध है. इसका हिसाब को देश को देना पड़ेगा.

'देश नहीं संभल रहा तो इस्तीफा दें मोदी'
लालू ने कहा कि अगर मोदी से इेश नहीं संभल रहा तो उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए. न्यायपालिका कई बार बोल चुकी सरकार राजधर्म का पालन नहीं कर रही. चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ने कई बार कहा कि न्यायपालिका के साथ इंसाफ नही हो रहा है. देश के साथ इंसाफ नहीं हो रहा है. कभी किसी से कोई राय नहीं ली जाती, जिसके नतीजे सामने दिख रहे हैं. लालू ने कहाकि अलगाववादियों से ऑल पार्टी मीटिंग केवल खानापूर्ति थी. ये केवल दिखाने के लिए था कि हमने ये किया हमने ये किया. पूरा बिहार सैनिकों के साथ है. उन्होंने कहा कि शहीद सैनिकों के परिवार से हमारी संवेदना है. उन्हें पर्याप्य सुविधा मिले, हम यही चाहते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें