scorecardresearch
 

बजट सत्र: PM बोले- संसद में आज से दो नई परंपराएं शुरू, सभी दल सार्थक चर्चा करें

मंगलवार से संसद का बजट सत्र शुरू होने जा रहा है. सत्र की शुरुआत में राष्ट्रपति का अभिभाषण और फिर आर्थिक सर्वे पेश होना है. सत्र से पहले पीएम मोदी ने कहा कि इस सत्र में कई नई परंपराओं की शुरुआत हो रही है. ऐसे में उम्मीद है कि जनता के हित के मुद्दों पर सार्थक चर्चा होगी. पीएम ने कहा कि तमाम दलों से बात हुई है और जनहित के मुद्दों पर सहमति बनाकर चर्चा कराने की कोशिश की जाएगी.

पीएम मोदी पीएम मोदी

मंगलवार से संसद का बजट सत्र शुरू होने जा रहा है. सत्र की शुरुआत में राष्ट्रपति का अभिभाषण और फिर आर्थिक सर्वे पेश होना है. सत्र से पहले पीएम मोदी ने कहा कि इस सत्र में कई नई परंपराओं की शुरुआत हो रही है. ऐसे में उम्मीद है कि जनता के हित के मुद्दों पर सार्थक चर्चा होगी. पीएम ने कहा कि तमाम दलों से बात हुई है और जनहित के मुद्दों पर सहमति बनाकर चर्चा कराने की कोशिश की जाएगी.

मोदी ने क्या कहा?
पीएम बोले- सत्र का सर्वाधिक उपयोग जनहित के लिए हो, सार्थक चर्चा हो, बजट की भी बारीकी से चर्चा हो. पहली बार बजट एक साथ हो रहा है. आप सब को स्मरण होगा, पहले बजट पांच बजे पेश किया जाता था. जब अटल जी की सरकार थी तब से उसे समय परिवर्तित कर सदन प्रारंभ होते ही पेश किया जाता था. आज एक नई परंपरा का शुभारंभ हो रहा है.

दो नई परंपरा का हो रहा है प्रारंभ
मोदी बोले- बजट एक महीने पहले आ रहा है. दूसरी- रेल बजट भी इसके साथ जोड़ दिया गया है. सभी राजनीतिक दलों पर मेरा विश्वास है कि उत्तम चर्चा के साथ जनहित के काम को आगे बढ़ाने का काम करेंगे.

बजट सत्र का कार्यक्रम
बजट सत्र का पहला हिस्सा 31 जनवरी से 9 फरवरी तक चलेगा जबकि दूसरा हिस्सा 9 मार्च से शुरू होकर 12 अप्रैल तक चलेगा. बजट सत्र के पहले हिस्से में हंगामा होने के आसार हैं. विपक्षी दलों ने संसद के इस सत्र की तारीख और नोटबंदी के मुद्दे पर सरकार को घेरने के संकेत दिए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें