scorecardresearch
 

संसद में नोटबंदी पर संग्राम, विपक्ष चर्चा को राजी, बीजेपी ने कहा- पहले माफी मांगो

राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी संसद से भाग रहे हैं. मुझे संसद में बोलने का मौका मिले तो पीएम संसद में बैठ नहीं पाएंगे. राहुल ने नोटबंदी को एक बेकार फैसला बताया और कहा कि केवल उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए ये फैसला लिया गया.

संसद में विपक्ष की बैठक संसद में विपक्ष की बैठक

नोटबंदी के मामले को लेकर संसद में गतिरोध जारी है. शुक्रवार को संसद की कार्यवाही की हंगामेदार शुरुआत हुई और विपक्षी दलों ने फिर सदन चलने नहीं दिया. लोकसभा में अलग ही नजारा देखने को मिला. बीजेपी के सदस्यों ने नारेबाजी की और कांग्रेस समेत तमाम दलों के नेताओं से माफी मांगने की मांग रख दी. बीजेपी ने राष्ट्रपति के बयान का हवाला देते हुए कहा कि विपक्ष के रवैये पर राष्ट्रपति ने भी सवाल खड़े किए हैं इसके लिए पहले विपक्ष माफी मांगे. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और तमाम विपक्षी दलों ने नोटबंदी के फैसले को गलत बताया और कहा कि ये फैसला आम लोगों के खिलाफ है और इसे सरकार तुरंत वापस ले. राज्यसभा की कार्यवाही बार-बार स्थगित होती रही तो हंगामे के बीच लोकसभा की कार्यवाही 14 दिसंबर तक के लिए स्थगित कर दिया गया.

लोकसभा स्पीकर से मिलीं सोनिया गांधी
इस बीच, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने लोकसभा स्पीकर से मुलाकात की और सदन में बीजेपी सदस्यों की ओर से किए जा रहे हंगामे पर नाराजगी जताई है.

राहुल का पीएम पर प्रहार
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने नोटबंदी के फैसले को लेकर मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा. राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी संसद से भाग रहे हैं. मुझे संसद में बोलने का मौका मिले तो पीएम संसद में बैठ नहीं पाएंगे. राहुल ने नोटबंदी को एक बेकार फैसला बताया और कहा कि केवल उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए ये फैसला लिया गया.

ये भी पढ़ें...
नोटबंदी पर राहुल की चोट, पीएम मोदी पर छोड़े ये 10 तीर...

'संसद में होगा सबकुछ साफ'
राहुल गांधी ने कहा- हम चाहते हैं कि सरकार हाउस के अंदर हमारे साथ बहस करे और जैसे मैंने कहा दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा. प्रधानमंत्री पूरे देश में भाषण दे रहे हैं लेकिन लोकसभा में आने से डर रहे हैं. कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि मैंने बोलने की पूरी तैयारी की हुई है. मुझे बोलने नहीं दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि मैं सदन में बोलूंगा तो जैसे भूकंप आ जाएगा.

 

राहुल पर रिजिजू का पलटवार
पीएम मोदी पर राहुल गांधी के आरोपों पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने पलटवार किया है. राहुल गांधी के आरोपों पर किरण रिजिजू का कहना है कि खुद स्कैम करने वाले किस मुंह से यह आरोप लगा रहे हैं. कांग्रेस पार्टी खुद बहस से भाग रही है. चर्चा से भाग रही है. वह लोग चर्चा नहीं करना चाहते इसीलिए सदन में हंगामा करते हैं. पूरा देश नरेंद्र मोदी के निर्णय के साथ है. हम लोग तो हमेशा से बहस चाहते थे. कई बार हमने विपक्ष को कहा कि सदन में आकर इस मुद्दे पर बहस कीजिए लेकिन वह लोग बहस से भाग रहे हैं.

संसद में गतिरोध के लिए विपक्ष मांगे माफी
संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि 16 दिन से जो संसद में रोकथाम हुआ है उसके मद्देनजर लोकसभा के सभी सदस्यों ने आपत्ति जताई. कांग्रेस और विपक्षी पार्टियों को 16 दिन तक संसद को बंद करने के लिए देश की जनता के माफी मांगनी चाहिए. उन्होंने कहा विपक्ष के हंगामे के कारण शुक्रवार को सदन 14 दिसंबर तक के लिए स्थगित हुआ. हम तो बहस के लिए हमेशा तैयार हैं. विपक्ष कांग्रेस, कम्युनिस्ट और तृणमूल के ये सारे बहाने हैं. विपक्षी दल बहस से दूर भाग रहे हैं क्योंकि उनके पास कोई तर्क नहीं है. देश की जनता सरकार के इस फैसले के साथ है. विपक्ष ने संसद को रोके रखा इसके लिए विपक्ष को जनता से माफी मांगनी चाहिए.

किसानों को कर दिया तबाह: मायावती
वहीं बीएसपी प्रमुख मायावती ने राज्यसभा में नोटबंदी को लेकर सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार को इस फैसले पर फिर से विचार करने की जरूरत है नहीं तो देश के किसानों को इसका सबसे ज्यादा नुकसान होगा. किसान पूरी तरह से तबाह हो जाएंगे. वहीं राज्यसभा में सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि आपको स्वीकार करना पड़ेगा कि ये देशद्रोही निर्णय है. ये फैसला भारत के अन्नदाता किसान को तबाह कर रहा है.

नहीं चला विपक्ष का फॉर्मूला
संसद की कार्यवाही से पहले विपक्षी दलों के नेताओं की बैठक हुई जिसमें तमाम दलों ने कहा कि अगर प्रश्नकाल स्थगित कर संसद में बहस कराई जाती है तो वे सदन चलने देंगे. टीएमसी के नेता इस फॉर्मूले के साथ स्पीकर से भी मिले लेकिन कोई रास्ता नहीं निकल सका. संसद की हंगामेदार शुरुआत हुई. बीजेपी के सदस्यों ने कांग्रेस के सांसदों से माफी मांगने को कहा. बीजेपी का कहना था कि राष्ट्रपति प्रणी मुखर्जी ने विपक्षी सदस्यों की रवैये पर सवाल उठाया है. विपक्ष को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें