scorecardresearch
 

पठानकोट हमला मामले में पाकिस्तान ने कई संंदिग्धों को हिरासत में लियाः NIA

पठानकोट हमले की जांच के लिए पाकिस्तान से आई पांच सदस्यीय संयुक्त जांच टीम के साथ एनआईए की बुधवार को हुई बैठक के बाद एनआईए चीफ शरद कुमार ने कहा कि दोनों तरफ मामले की जांच जारी है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की ओर से हिरासत में लिए लोगों के बारे में अभी जानकारी साझा नहीं कर सकते हैं. क्योंकि यह डिटेल्स संवेदनशील है.

X
पाकिस्तान से आई पांच सदस्यीय संयुक्त जांच टीम पाकिस्तान से आई पांच सदस्यीय संयुक्त जांच टीम

पठानकोट एयरबेस पर आतंकी हमले के मामले में पाकिस्तान ने कुछ संदिग्ध आतंकियों को हिरासत में लिया है. पाकिस्तान ने इस मामले में हो रही जांच के डिटेल्स भी भारत के राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) से साझा किए हैं. एनआईए के महानिदेशक शरद कुमार ने बुधवार को यह जानकारी दी.

पाकिस्तान की कार्रवाई के बारे में नहीं बता सकते
पठानकोट हमले की जांच के लिए पाकिस्तान से आई पांच सदस्यीय संयुक्त जांच टीम के साथ एनआईए की बुधवार को हुई बैठक के बाद उन्होंने कहा कि दोनों तरफ मामले की जांच जारी है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की ओर से हिरासत में लिए लोगों के बारे में अभी जानकारी साझा नहीं कर सकते हैं. क्योंकि यह डिटेल्स संवेदनशील है. उन्होंने कहा कि जेआईटी गुरुवार को एनआईए के सामने गवाहों से पूछताछ करेगी.

पाकिस्तान जाएगी एनआईए की टीम
शरद कुमार ने कहा कि भारत ने इस आतंकी हमले से जुड़े कई ठोस सबूत पाकिस्तान के साथ साझा किए थे. इसके बाद वहां यह बड़ा कदम उठाया गया है. उन्होंने बताया कि पठानकोट हमले मामले में एनआईए पाकिस्तान जाकर जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर और उसके भाई राउफ से पूछताछ करना चाहती है. उन्होंने कहा कि हम इस हमले में उनकी भूमिका की जांच करना चाहते हैं.

मसूद अजहर और राउफ पर क्या कार्रवाई हुई?
उन्होंने सवाल किया था कि पाकिस्तान में बैठे पठानकोट हमले के मास्टरमाइंड और जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर और उसके भाई राउफ को लेकर अभी तक क्या कार्रवाई की गई है? और अभी तक जो सबूत आतंकियों से मिले हैं उस पर पाकिस्तान किस तरह से कार्रवाई करेगा? एनआईए के एक दूसरे सीनियर अधिकारी संजीव सिंह ने कहा कि पाकिस्तान के साथ हमारी चर्चा एक दूसरे की मदद के आधार पर की गई. हमने पाकिस्तान को जरूरी सबूत सौंप दिए हैं.

मसूद अजहर पर पाकिस्तान का टालमटोल
पठानकोट एयरबेस पर इस साल दो जनवरी को हुए आतंकी हमले का मास्टरमाइंड 47 साल का मसूद अजहर पाकिस्तान में है या नहीं. इस पर पाकिस्तान की ओर से मालूम नहीं होने की बात कही गई है. इससे पहले पाकिस्तानी अधिकारी कह चुके थे कि वह देश से फरार हो चुका है.

जेआईटी को सौंपे फोन कॉल रिकॉर्डिंग
पाकिस्तान की जेआईटी के साथ भारत ने फोन कॉल रिकॉर्डिंग और गवाहों के बयान सहित कई अहम और पुख्ता सबूत साझा किए हैं. शरद कुमार ने मंगलवार को कहा था कि जेआईटी पठाननकोट हमले की जांच के सिलसिले में गवाहों के बयान दर्ज करेगी. जेआईटी ने एसपी सलविंदर सिंह से भी पूछताछ करने की इजाजत मांगी थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें