scorecardresearch
 

क्या ईडी पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के खिलाफ आज दायर करेगा चार्जशीट ?

पूर्व वित्त मंत्री पी चिंदबरम की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है. आरोप है कि उन्होंने एयरसेल-मैक्सिस करार को अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर जाकर मंजूरी दी .

पूर्व वित्त मंत्री पी. चिंदबरम [फोटो- एजेंसी] पूर्व वित्त मंत्री पी. चिंदबरम [फोटो- एजेंसी]

एयरसेल मैक्सिस विवाद में आज दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई होनी है. इस पर लोगों की निगाहें लगी हुई हैं कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के खिलाफ याचिका दायर करेगा या नहीं. दूसरी ओर ऐसी बातें भी चल रही हैं कि ईडी डायरेक्टर राजशेखर सिंह शुक्रवार से एजुकेशन लीव पर जा सकते हैं. चिदंबरम आईएनएक्स मीडिया मामले में भी आरोपों को सामना कर रहे हैं. इस मामले में उन्हें 25 अक्टूबर यानी आज तक गिरफ्तारी से राहत मिली हुई है.

स्वामी के ट्वीट से हलचल

भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने सीबीआई में हो रही उठापठक के बाद एक ट्वीट कर मुद्दे को हवा दे दी है. स्वामी ने ट्वीट कर कहा है कि भाजपा सरकार भ्रष्टाचार के आरोपियों को बचा रही है. उन्होंने यह भी कहा है कि अगर ईडी डायरेक्टर को हटाया जाता है तो वह भ्रष्टाचार के खिलाफ दायर किए गए सभी मामले वापस ले लेंगे.

क्या है एयरसेल-मैक्सिस केस

आरोप लगाए गए थे कि चिदंबरम ने वित्त मंत्री रहने के दौरान 2006 में अवैध तरीके से एयरसेल-मैक्सिस करार को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की मंजूरी दी थी. जबकि इस तरह की मंजूरी आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी के माध्यम से मिलनी चाहिए थी. वित्त मंत्री को केवल 600 करोड़ तक के निवेश को मंजूरी देने का अधिकार था लेकिन उन्होंने 3500 करोड़ के निवेश को मंजूरी दे दी. इतने बड़े मामले को आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी से मंजूरी मिलनी चाहिए थी. आरोप हैं कि चिंदबरम के बेटे कार्ति के माध्यम से इस डील को आगे बढ़ाया गया. पिछले साल सिंतबर में ईडी ने कार्ति की 1.16 करोड़ की संपत्तियां अटैच की थीं जिसमें बताया गया था कि वह इस डील से जुड़ी हुई हैं.

चिदंबरम आईएनएक्स मीडिया मामले में भी आरोपों को सामना कर रहे हैं हालांकि उन्हें 25 अक्टूबर यानी आज तक गिरफ्तारी से राहत मिली हुई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें