scorecardresearch
 

प्याज पर एक्शन में मोदी सरकार, महाराष्ट्र भेजे गए दो अफसर

प्याज की कीमतों में हो रही बढ़ोतरी को रोकने के लिए मोदी सरकार ने एक्शन शुरू कर दिया है. संयुक्त सचिव स्तर के दो अधिकारियों को महाराष्ट्र भेजा गया. केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने कहा कि बाजार में प्याज की आपूर्ति बढ़ाने के लिए दो अधिकारियों को महाराष्ट्र भेजा गया है.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

त्योहार आने से पहले प्याज की कीमतों में हो रही बढ़ोतरी को रोकने के लिए मोदी सरकार ने एक्शन लेने शुरू कर दिया है. अब संयुक्त सचिव स्तर के दो अधिकारियों को महाराष्ट्र भेजा जा रहा है. केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने ट्वीट कर कहा कि बाजार में प्याज की आपूर्ति बढ़ाने के लिए दो अधिकारियों को महाराष्ट्र भेजा गया है.

संयुक्त सचिव स्तर के ये दोनों अधिकारी किसानों, व्यापारियों और ट्रांसपोर्टरों से बात करके प्याज की उपलब्धता की समीक्षा करेंगे और अधिक से अधिक प्याज बाजार में लाने की कोशिश करेंगे.

इसके अलावा प्याज की कीमतों पर लगाम लगाने के लिए मोदी सरकार ने कई और फैसले ले चुकी है . सरकार ने राज्यों को निर्देश दिया है कि प्रत्यक्ष खुदरा बिक्री के लिए केंद्र सरकार के पास उपलब्ध बफर स्टॉक का उपयोग करें. इस संबंध में राज्य सरकारों को संदेश भी भेजा जा चुका है. अब तक हरियाणा, आंध्र प्रदेश, दिल्ली, त्रिपुरा और ओडिशा ने इस केंद्र सरकार के बफर से प्याज की मांग की है.

वहीं NAFED को दिल्ली में मदर डेयरी, सफल, NCCF और स्वयं अपने दुकानों के माध्यम से प्याज 24 रुपये प्रति किलो से ज्यादा नहीं बेचने के लिए कहा गया है.

सरकार की कोशिश

केंद्र सरकार ने अपने बफर से दिल्ली सरकार को प्याज देने की पेशकश की है. कर्नाटक से प्याज की खरीफ की फसल पहले ही बाजार में आनी शुरू हो गई है. इससे महाराष्ट्र से आपूर्ति के साथ-साथ आसपास के क्षेत्रों में कीमतों पर दबाव कम होगा.

वर्तमान मांग को पूरा करने के लिए महाराष्ट्र में प्याज का पर्याप्त भंडार मौजूद है. हालांकि, कीमतों को काबू में करने के लिए आपूर्ति पर लगाम लगाई जा रही है. प्याज की उपलब्धता को भी ठीक करने के लिए सरकार हर संभव मदद कर रही है.

अब केंद्र सरकार की ओर से संयुक्त सचिव स्तर के दो अधिकारियों को महाराष्ट्र भेजा जा रहा है जो किसानों, व्यापारियों और ट्रांसपोर्टरों से बात करके प्याज की उपलब्धता की समीक्षा करेंगे और अधिक से अधिक प्याज बाजार में लाने की कोशिश करेंगे.

क्या त्योहार में प्याज की कीमत रुकेगी?

आने वाले त्योहारी सीजन के दौरान किसी भी आकस्मिक बैठक को लेकर NAFED को तैयार रहने का निर्देश दिया गया है. इसके अलावा बांग्लादेश और श्रीलंका को प्याज के न्यूनतम निर्यात मूल्य से नीचे के निर्यात को तुरंत रोक दिया जाएगा.

दूसरी ओर, व्यापारिक सूत्रों ने बताया कि अफगानिस्तान से पाकिस्तान के रास्ते देश में प्याज आने लगे हैं. सूत्र के अनुसार अफगानिस्तान से जल्द ही 30-35 ट्रक भरकर प्याज देश में आ जाएगा, वहां उसकी लोडिंग हो चुकी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें