scorecardresearch
 

रविशंकर के वार पर अभय थिप्से का पलटवार, कहा- मेरे जजमेंट्स से खुश नहीं सरकार

अभय थिप्से ने कहा है कि मैं निडर हूं. मेरे पिछले जजमेंट्स के कारण सरकार खुश नहीं है और इसीलिए मुझे निशाना बनाया जा रहा है.

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (फाइल फोटो-पीटीआई) केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (फाइल फोटो-पीटीआई)

  • बीजेपी बना रही मुझे निशाना: अभय थिप्से
  • सरकार मेरे जजमेंट्स से खुश नहीं: थिप्से

कांग्रेस नेता और पूर्व जज अभय थिप्से पर भारतीय जनता पार्टी हमलावर है. केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि अभय थिप्से ने पीएनबी घोटाले के आरोपी नीरव मोदी के पक्ष में गवाही दी थी. वहीं अभय थिप्से का कहना है कि बीजेपी की ओर से उन्हें निशाना बनाया जा रहा है.

यह भी पढ़ें: नीरव मोदी का प्रत्यर्पण से बचने का पैंतरा, लंदन कोर्ट में वकील ने कहा- दिमागी हालत ठीक नहीं

आजतक से खास बातचीत में अभय थिप्से ने कहा, 'मैं निडर हूं. मेरे पिछले जजमेंट्स के कारण सरकार खुश नहीं है और इसीलिए मुझे निशाना बनाया जा रहा है. बीजेपी के अपने नेताओं ने अदालती मामलों में कांग्रेस का बचाव किया है. जेटली की बेटी नीरव मोदी की डिफेंस टीम में थी. रिटारमेंट के बाद मैं अब एक सलाहकार के रूप में काम करता हूं. मैं राय देने की फीस लेता हूं.'

उन्होंने कहा, 'मुझे नीरव मोदी की ओर से हायर की गई लॉ फर्म से संपर्क किया गया था. मैं अन्य परामर्शी काम भी करता हूं. नीरव मोदी के लिए लॉ फर्म काम कर रही है. वकीलों ने मेरी राय का इस्तेमाल किया क्योंकि यह उनके पक्ष में थी. मैं यह नहीं कह रहा हूं कि कोई निर्दोष है या दोषी है. यह अदालत को तय करना है. एक निमंत्रण पर मैंने कांग्रेस पार्टी की प्राथमिक सदस्यता स्वीकार की. लेकिन मैं कोई पद नहीं संभाल रहा हूं और न ही सरकार में कोई पद रखता हूं.'

रविशंकर प्रसाद का हमला, बोले- नीरव मोदी को बचाने में जुटी है कांग्रेस

अभय थिप्से ने कहा, 'सरकार दिसंबर से मेरी राय से अवगत है. तब से उन्होंने कोई बात क्यों नहीं कही? रविशंकर प्रसाद का बयान बिल्कुल झूठ है. यह एक गैरजिम्मेदाराना बयान है. मैं देखूंगा कि इसके बारे में क्या करना है. उनके बयान का अध्ययन करने के बाद रविशंकर प्रसाद के खिलाफ अगली कार्रवाई की योजना बनाऊंगा. कांग्रेस पार्टी को मेरे बयान की जानकारी नहीं थी.'

क्या है मामला?

बता दें कि केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस नीरव मोदी और मेहुल चोकसी को बचाने में लगी है. उन्होंने कहा कि मुंबई हाईकोर्ट के एक रिटायर्ड जज अभय थिप्से ने नीरव मोदी के डिफेंस विटनेस के रूप में ये स्टैंड लिया है कि नीरव मोदी के खिलाफ कोई केस नहीं है. अभय थिप्से ने नीरव के पक्ष में गवाही दी थी.

मानसिक स्वास्थ्य की समस्या

वहीं भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की वकील ने प्रत्यर्पण ट्रायल के दूसरे दिन लंदन की कोर्ट से मंगलवार को कहा कि उनके मुवक्किल (नीरव मोदी) को मानसिक स्वास्थ्य की समस्या है. वकील क्लेयर मोंटगोमरी ने ये भी कहा कि नीरव मोदी को अगर प्रत्यर्पित किया जाता है और मुंबई की आर्थर रोड जेल में रखा जाता है तो यह उनके मुवक्किल के मानवाधिकारों का उल्लंघन होगा. वकील ने नीरव मोदी के खिलाफ सभी आरोपों को निराधार बताया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें