scorecardresearch
 

नवाज शरीफ बोले- बातचीत का सिलसिला रहेगा जारी, लेकिन अकेले PM नहीं सुलझा सकता मसला

पाकिस्तान के वजीर-ए-आजम ने हमले में शामिल आतंकवादियों के खिलाफ त्वरित और निर्णायक कार्रवाई का वादा किया है. बातचीत में पीएम मोदी ने भारत की ओर से उपलब्ध कराई गई विशिष्ठ और कार्रवाई करने योग्य सूचना पर तत्काल कदम उठाने पर जोर दिया.

नरेंद्र मोदी और नवाज शरीफ नरेंद्र मोदी और नवाज शरीफ

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा, 'पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के विदेश सचिव कुछ ही दिन में बातचीत करेंगे. उन्होंने कहा कि वे विवाद मुक्त दक्ष‍िण एशिया चाहते हैं. मैं अपने बारे में कोई ऐसी बात नहीं कर सकता. कोशिश जरूर करेंगे. सब मिलकर करेंगे. अकेले वजीर-ए-आजम मुल्क के मसले को हल नहीं कर सकता.'.

मोदी-शरीफ में फोन पर हुई बातचीत
इससे पहले मंगलवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने पीएम नरेंद्र मोदी से इस बाबत फोन पर बात की. करीब 15 मिनट की इस बातचीत में मोदी ने कार्रवाई पर जोर दिया तो शरीफ ने भी आतंकी हमले की जांच में मदद और दोषियों के खि‍लाफ सख्त कदम उठाने का भरोसा दिया.

पाकिस्तान के वजीर-ए-आजम ने हमले में शामिल आतंकवादियों के खिलाफ त्वरित और निर्णायक कार्रवाई का वादा किया है. बातचीत में पीएम मोदी ने भारत की ओर से उपलब्ध कराई गई विशिष्ठ और कार्रवाई करने योग्य सूचना पर तत्काल कदम उठाने पर जोर दिया. प्रधानमंत्री कार्यालय ने बताया कि मोदी को सोमवार दोपहर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने पठानकोट वायुसैनिक अड्डे पर आतंकी हमले के बारे में फोन किया.

पीएमओ के बयान में कहा गया है कि टेलीफोन पर हुई बातचीत के दौरान मोदी ने इस बात पर जोर दिया कि पाकिस्तान को पठानकोट आतंकवादी हमले के लिए जिम्मेदार लोगों एवं संगठनों के खिलाफ ठोस और तत्काल कार्रवाई करने की जरूरत है. बयान में कहा गया है कि इस बारे में पाकिस्तान को विशिष्ट और कार्रवाई करने योग्य सूचना उपलब्ध कराई गई है.

एनआईए चीफ ने कहा- वो पाकिस्तानी थे
शरीफ ने प्रधानमंत्री मोदी को आश्वस्त किया कि उनकी सरकार आतंकवादियों के खिलाफ त्वरित एवं निर्णायक कार्रवाई करेगी. एनआईए के प्रमुख शरद कुमार ने कहा कि इसमें तनिक भी संदेह नहीं है कि आरोपी पाकिस्तान से थे और हमारे पास अभी तक जो साक्ष्य उपलब्ध हैं, वे आतंकवादियों की उनके संचालकों और परिवार के लोगों के साथ फोन पर हुई बातचीत को बीच में सुनने पर आधारित हैं.

पाकिस्तान में बने उपकरण भी बरामद!
रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने भी सोमवार को कहा कि ऐसे संकेत हैं कि आतंकवादियों द्वारा प्रयोग किए गए कुछ उपकरण पाकिस्तान में बने हैं. समझा जाता है कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने पड़ोसी मुल्क को आतंकियों के पास से बरामद पाकिस्तानी नंबर जैसी सूचनाएं और सुराग दिए हैं. खबरों के मुताबिक, हमलावरों ने कई कॉल पाकिस्तान में किए, जिनमें कुछ संक्षिप्त और कुछ लम्बी अवधि के थे.

PAK विदेश मंत्रालय ने क्या कहा
पाकिस्तानी विदेश विभाग ने सोमवार रात इस्लामाबाद में एक बयान में कहा कि पाकिस्तान पठानकोट वायुसेना स्टेशन पर आतंकी हमले के संबंध में भारत द्वारा उपलब्ध कराए गए सुरागों पर काम कर रहा है.

बयान में कहा गया, 'आतंकवाद से मुकाबला करने और इसे उखाड़ फेंकने की पाकिस्तान की प्रतिबद्धता के अनुरूप सरकार, भारत सरकार के संपर्क में है और उसके द्वारा उपलब्ध कराए गए सुरागों पर काम कर रही है.' इसमें हालांकि भारत द्वारा उपलब्ध कराए गए सुरागों का ब्योरा नहीं दिया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें