scorecardresearch
 

तेल और पानी का म‍िलन था PDP और BJP का गठबंधन: पीएम मोदी

PM Narendra Modi Interview जम्मू कश्मीर समस्या के ल‍िए क्या बेस्ट समाधान हो सकता है, इस पर आजतक की एग्जीक्यूटिव एडिटर श्वेता स‍िंह ने प्रधानमंत्री से सीधे सवाल क‍िया. इस सवाल के जवाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पष्ट माना क‍ि जम्मू क‍श्मीर की सरकार चलाने में जो हुआ, वह तेल और पानी का म‍िलन था. यह बात लोकसभा चुनाव 2019 के रण में जीत हासिल करने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नंबर एक चैनल ‘आजतक’ से खास बातचीत में कही. 

Exclusive Interview With PM Narendra Modi Exclusive Interview With PM Narendra Modi

लोकसभा चुनाव 2019 के रण में जीत हासिल करने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नंबर एक चैनल ‘आजतक’ से खास बातचीत की. इस बातचीत में पीएम ने अपने कार्यकाल, 5 साल में उठे हर मुद्दे, विपक्ष के हर आरोप पर खुलकर एक नए अंदाज में बात की.

जम्मू कश्मीर समस्या के ल‍िए क्या बेस्ट समाधान हो सकता है, इस पर आजतक की एग्जीक्यूटिव एडिटर श्वेता स‍िंह ने प्रधानमंत्री से सीधे सवाल क‍िया. इस सवाल के जवाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पष्ट माना क‍ि जम्मू क‍श्मीर की सरकार चलाने में जो हुआ, वह तेल और पानी का म‍िलन था.

श्वेता स‍िंह ने पूछा क‍ि 5 साल सत्ता में रहने के बाद क्या आपकी समझ में आ रहा है क‍ि जम्मू कश्मीर के ल‍िए बेस्ट अप्रोच क्या है? इस सवाल का जवाब देते हुए पीएम मोदी ने कहा, " एक मुट्ठी भर परिवार ने जम्मू कश्मीर को इमोशनली ब्लैकमेल‍ करने का रास्ता चुना है. मुफ्ती साहब थे, तब हमें आशा थी क‍ि हम इससे बाहर आएंगे, लेक‍िन वह हमारी महाम‍िलावट थी. तेल और पानी का म‍िलन था. वह हमने कह कर क‍िया था क‍ि हम दोनों अलग-अलग ग्रुप के हैं, हमारा कोई मेल नहीं बैठेगा लेक‍िन जनता ने ऐसा वरड‍िक्ट दे द‍िया है क‍ि साथ चले ब‍िना काम भी नहीं चलेगा और हम इसके ब‍िना रह नहीं सकते. यही लोकतंत्र का तकाजा है."

पीएम नरेंद्र मोदी ने कश्मीर के बारे में बोलते हुए आगे कहा, "अटल जी का फार्मूला ही काम आने वाला है, इंसान‍ियत, कश्मीर‍ित, जम्हूर‍ियत लेकिन कश्मीर का मुट्ठीभर पर‍िवार कश्मीर में एक भाषा बोलते हैं तो द‍िल्ली में आकर दूसरी भाषा बोलते हैं. ये दोगलापन उजाकर करना पड़ेगा. मैं अभी वह कर रहा हूं. आपमें ह‍िम्मत होनी चाह‍िए क‍ि जो आप कश्मीर में बोलते हैं, वही भाषा द‍िल्ली में बोलनी चाह‍िए. जो द‍िल्ली में बोल रहे हैं, वही कश्मीर में बोल‍िए, लेक‍िन वह नहीं बोल रहे हैं. दो भाषा बोल रहे हैं और एक्सपोज हो रहे हैं. इसल‍िए वहां पंचायत के चुनाव में दोनों ही पार्टियां जो ठेकेदार हैं वहां की, उन्होंने चुनाव का बह‍िष्कार क‍िया था. उसके बाद भी 75 फीसदी मतदान हुआ."

बता दें कि 'आजतक' को दिया गया ये इंटरव्यू शाम 7 बजे हमारे चैनल और हमारी वेबसाइट aajtak.in पर प्रसार‍ित हुआ. इस इंटरव्यू में प्रधानमंत्री ने ना सिर्फ अपने कार्यकाल पर बात की, बल्कि आने वाले सालों के लिए भी अपनी राय रखी.

चुनाव की हर ख़बर मिलेगी सीधे आपके इनबॉक्स में. आम चुनाव की ताज़ा खबरों से अपडेट रहने के लिए सब्सक्राइब करें आजतक का इलेक्शन स्पेशल न्यूज़लेटर   

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें