scorecardresearch
 

ममता बनर्जी का अजीब बयान, 'मच्छर के काटने से होता है स्वाइन फ्लू'

यह गूगल युग है इसलिए नेताओं की अज्ञानता तुरंत सामने आ जाती है और उन्हें अप्रिय स्थिति का सामना करना पड़ जाता है. ऐसे ही एक मामले में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने देशभर में महामारी का रूप अख्तियार करते स्वाइन फ्लू पर एक अजीब बयान दे दिया है. ममता ने गुरुवार को कहा कि स्वाइन फ्लू मच्छर के काटने से होता है. मजेदार बात यह रही कि यह बयान उन्होंने स्वाइन फ्लू की रोकथाम के लिए अपनी सरकार द्वारा किये जा रहे गंभीर प्रयासों की जानकारी देते हुए कही.

ममता बनर्जी (फाइल फोटो) ममता बनर्जी (फाइल फोटो)

यह गूगल युग है इसलिए नेताओं की अज्ञानता तुरंत सामने आ जाती है और उन्हें अप्रिय स्थिति का सामना करना पड़ जाता है. ऐसे ही एक मामले में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने देशभर में महामारी का रूप अख्तियार करते स्वाइन फ्लू पर एक अजीब बयान दे दिया है. ममता ने गुरुवार को कहा कि स्वाइन फ्लू मच्छर के काटने से होता है. मजेदार बात यह रही कि यह बयान उन्होंने स्वाइन फ्लू की रोकथाम के लिए अपनी सरकार द्वारा किये जा रहे गंभीर प्रयासों की जानकारी देते हुए कही.

ममता ने कहा, 'हम स्वाइन फ्लू से निपटने के लिए हरसंभव उपाय कर रहे हैं. हमने तो अस्पतालों में अलग से बिस्तरों की व्यवस्था भी कर दी है.' ममता ने आगे कहा, 'इन दिनों ऐसे भी लोग यात्रा बहुत करते हैं और आप जानते ही हैं कि यह बीमारी मच्छर के काटने और भी कई कारणों से फैलती है. अब इसे रोकना भले संभव न हो लेकिन इसका इलाज तो हम सुनिश्चित कर ही सकते हैं.'

स्वाइन फ्लू जिसे H1N1 वायरस के नाम से भी जाना जाता है, एक संक्रामक बीमारी है. एक संक्रमित व्यक्ति की छींक से भी यह बीमारी दूसरे व्यक्ति में फैल सकती है. इसका वायरस टेबल, फर्श पर भी हो सकता है जो हाथ लगाते ही आपको संक्रमित कर सकता है. इस बीमारी से बचाव के लिए हाथों की सफाई बहुत महत्वपूर्ण है. इसके अलावा संक्रमित लोगों से दूरी बनाकर रखना बहुत जरूरी है.

देश भर में स्वाइन फ्लू से मरने वालों का आंकड़ा 700 के ऊपर पहुंच गया है. हालांकि ममता बनर्जी ने कहा कि राज्य में स्थिति पूरे नियंत्रण में हैं. पश्चिम बंगाल में अबतक स्वाइन फ्लू के 42 मामले सामने आ चुके हैं. इसके अलावा दो लोगों की मौत भी इस बीमारी से हो चुकी है. पश्चिम बंगाल हैल्थ सर्विसेज के निदेशक बिश्वरंजन ने कहा, 'अधिकांश मामले शहरी इलाकों से ही सामने आए हैं. पिछले 48 घंटों में इस बीमारी से किसी मौत की सूचना भी नहीं है. 6 नए मामले सामने आए हैं लेकिन उनमें से किसी की हालत गंभीर नहीं है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें