scorecardresearch
 

मध्य प्रदेश: आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष आलोक अग्रवाल ने दिया इस्तीफा

आलोक अग्रवाल ने दिल्ली सरकार के मंत्री और आम आदमी पार्टी के मध्य प्रदेश प्रभारी गोपाल राय पर षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया है. आलोक अग्रवाल ने आरोप लगाते हुए कहा कि वे मध्य प्रदेश में 7 महीने तक कार्य रोकने के खिलाफ सभी पदों से सामूहिक इस्तीफा दे रहे हैं.

X
आम आदमी पार्टी के नेता (IANS) आम आदमी पार्टी के नेता (IANS)

आम आदमी पार्टी में अंदरूनी लड़ाई खुलकर सामने आ गई है. आम आदमी पार्टी के मध्य प्रदेश अध्यक्ष और संयोजक आलोक अग्रवाल ने पूरी कार्यकारिणी के साथ रविवार को इस्तीफा दे दिया. आलोक अग्रवाल ने दिल्ली सरकार के मंत्री और आम आदमी पार्टी के मध्य प्रदेश प्रभारी गोपाल राय पर षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया है.

आलोक अग्रवाल ने आरोप लगाते हुए कहा कि 'प्रदेश प्रभारी गोपाल राय की ओर से राज्य के संगठन पर अवांछनीय नियत्रंण के लिए कुछ भ्रष्ट कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर षडयंत्रपूर्वक काम किया जा रहा है. मध्य प्रदेश में 7 महीने तक कार्य रोकने के खिलाफ सभी पदों से सामूहिक इस्तीफा दे रहा हूं.'

गोपाल राय पर लगाए बड़े आरोप

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को लिखी चिट्ठी में आलोक अग्रवाल ने गोपाल राय पर कई संगीन आरोप लगाए हैं. उन्होंने लिखा है कि 'आश्चर्यजनक रूप से मध्य प्रदेश के प्रभारी गोपाल राय की ओर से प्रदेश नेतृत्व और संगठन में अवांछनीय नियंत्रण करने के उद्देश्य से षडयंत्र रचा गया. इस षड्यंत्र में उन्होंने कुछ लोगों को मोहरा बनाया. इसमें एक पदाधिकारी वह है जिसके बारे में प्राप्त दस्तावेजों से स्पष्ट होता है कि वह चुनाव के 8 महीने पहले से हमारी प्रतिद्वंद्वी पार्टी कांग्रेस के साथ मिलकर पार्टी को कमजोर करने में लगा था. दूसरा पदाधिकारी वह है जो पार्टी को मिले चंदे में भ्रष्टाचार करते पाया गया था और अनुशासन समिति ने उसे निष्कासित कर दिया था.'

आलोक अग्रवाल ने आगे लिखा, 'इनके अलावा तीसरा व्यक्ति और है जिसने हमारी सबसे मजबूत और प्रमुख प्रत्याशी को हराने का काम किया. गोपाल राय ने इनके साथ मिलकर पार्टी संगठन को कमजोर करने का काम किया.' आलोक अग्रवाल ने चिट्ठी में लिखा है कि उन्होंने जून 2019 और जुलाई 2019 में पार्टी को गोपाल राय के बारे में अवगत कराया लेकिन पॉलिटिकल अफेयर्स कमिटी ने गोपाल राय के दबाव के आगे घुटने टेक दिए. आलोक अग्रवाल ने आखिर में लिखा कि हम ऐसे प्रदेश प्रभारी के साथ काम करने को तैयार नहीं हैं जो संगठन को मजबूत करने की बजाय उसको डुबाने का काम कर रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें