scorecardresearch
 

केरल: बाढ़ में बर्बाद हुए 12वीं के डॉक्यूमेंट, छात्र ने की आत्महत्या

आपको बता दें कि केरल में अभी तक मची बाढ़ की तबाही के कारण करीब 370 लोगों की जान जा चुकी है. करीब 10 लाख लोग राहत शिविर में रहने को मजबूर हैं.

केरल में बाढ़ का कहर (फाइल) केरल में बाढ़ का कहर (फाइल)

केरल में बाढ़ से मची तबाही के बीच कई ऐसे मामले सामने आ रहे हैं जो दिल को दहला रहे हैं. केरल के कोझिकोडे में बाढ़ से हालात काफी खराब हैं. यहां के ही रहने वाले कैलाश ने तब आत्महत्या कर ली जब उसे पता लगा कि बाढ़ के कारण उसके बारहवीं क्लास के सभी डॉक्यूमेंट बर्बाद हो गए. स्थानीय पुलिस ने सोमवार को इस बात की पुष्टि की.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, कोझिकोडे के करंथुर में कैलाश और उसका परिवार रहता था. यह काफी निचला इलाका है, जिस वजह से उनका घर पूरी तरह से पानी में डूब गया था. कैलाश अपने परिवार के समेत रिलीफ कैंप में चला गया था. लेकिन जब पानी उतरा और परिवार वापस आया तो कैलाश ने कुछ ऐसा देखा जिसे वह बर्दाश्त नहीं कर सका.

कैलाश को ITI में एडमिशन मिला था, जिसके लिए उसने नए कपड़े खरीदे थे अपनी जमापूंजी से कुछ पैसे भी इकट्ठे किए थे. लेकिन बारिश ने कैलाश के सपनों पर पानी फेर दिया.

कैलाश जब रविवार को घर वापस पहुंचा, तो उसने देखा कि उसकी 12वीं क्लास के सभी सर्टिफिकेट पानी में बर्बाद हो गए. जिसके बाद उसने अपने कमरे ही खुद को फांसी लगा ली.

परिवार वालों ने तुरंत पुलिस को इस बात की जानकारी दी. कैलाश के पिता मजदूरी करते हैं और बेटे को आईटीआई में एडमिशन मिलने के बाद उन्हें उम्मीद थी कि उनका भविष्य कुछ सुधरेगा. लेकिन सबकुछ खत्म हो गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें