scorecardresearch
 

सीएम येदियुरप्पा बोले- उपचुनाव में जीते हुए विधायकों को बनाएंगे मंत्री

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने उपचुनावों में जीते हुए विधायकों को मंत्री बनाने का वादा एक बार फिर दोहराया है. बीएस येदियुरप्पा ने कहा है कि जिन्होंने पिछली सरकार में इस्तीफा देकर हमारा साथ दिया और अब उपचुनाव में जीत गए हैं, मैंने उनसे वादा किया था, अब उन्हें मंत्री बनाने की जिम्मेदारी हमारी है.

बीएस येदियुरप्पा (फाइल फोटो- PTI) बीएस येदियुरप्पा (फाइल फोटो- PTI)

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने उपचुनावों में जीते हुए विधायकों को मंत्री बनाने का वादा एक बार फिर दोहराया है. बीएस येदियुरप्पा ने कहा है कि जिन्होंने पिछली सरकार में इस्तीफा देकर हमारा साथ दिया और अब उपचुनाव में जीत गए हैं, मैंने उनसे वादा किया था, अब उन्हें मंत्री बनाने की जिम्मेदारी हमारी है.

उन्होंने कहा कि यह सौ फीसदी किया जाएगा. येदियुरप्पा ने एमटीबी नागराज और एएच विश्वनाथ की हार पर कहा कि फिलहाल मैं उनकी हार पर टिप्पणी नहीं करना चाहता हूं. मैं उनसे व्यक्तिगत तौर पर बात करूंगा.

बता दें कि कर्नाटक में 15 विधानसभा क्षेत्रों के लिए हुए उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 12 सीटों पर जीत दर्ज की, जबकि कांग्रेस को दो सीटें मिलीं. हालांकि, इस चुनाव में जनता दल (सेकुलर) अपना खाता भी नहीं खोल पाया.

हालांकि जद(एस) के समर्थन से बेंगलुरू ग्रामीण जिले के होसकोटे में एक निर्दलीय उम्मीदवार को जीत मिली है.

सत्तारूढ़ पार्टी ने अठानी, कगवाड़, गोकक, येल्लापुर, हिरेकुरू, विजयनगर, रानीबेन्नूर, चिकबल्लापुर, के.आर. पुरा, महालक्ष्मी लेआउट, यशवंतपुर और कृष्णराजपेट सीटों पर जीत दर्ज की है.

वहीं कांग्रेस को मैसुरू जिले के हुनसुरू और बेंगलुरू मध्य के शिवाजीनगर में जीत मिली है.

सत्तारूढ़ भाजपा को 223 सदस्यीय विधानसभा में बहुमत के लिए आवश्यक 112 सीटों के आंकड़े तक पहुंचने के लिए केवल सात सीटों की जरूरत थी, लेकिन उसने 12 सीटों पर जीत दर्ज कराई. और इसके साथ ही अब चार माह पुरानी भाजपा सरकार मई 2023 तक अपना कार्यकाल पूरा कर सकेगी.

इस उपचुनाव में भाजपा को 50.3 फीसदी, कांग्रेस को 31.3 फीसदी और जद(एस) को 12.1 फीसदी मत मिले.

कांग्रेस ने 15 में से दो सीटों पर, जबकि जद(एस) को सभी 12 सीटों पर हार का सामना करना पड़ा.

वहीं निर्दलीय शरत कुमार बछेगौड़ा ने प्रतिष्ठित होसाकोट सीट पर भाजपा के एम.टी.बी. नागराज को हरा दिया. नागराज ने चुनावी शपथपत्र में अपनी संपत्ति 1,230 करोड़ रुपये बताई थी. बछेगौड़ा भाजपा के बागी नेता हैं.

जद(एस) ने होसाकोटे में अपना उम्मीदवार नहीं उतारा, लेकिन बछेगौड़ा को समर्थन दिया, जो चिक्काबल्लापुर से भाजपा सांसद बी.एन. बछेगौड़ा के बेटे हैं.

निर्वाचन क्षेत्र के अनुसार, भाजपा उम्मीदवार ने अथानी सीट जीती और कांग्रेस उम्मीदवार गजानन भालचंद्र मंगसुली को 39,989 मतों के अंतर से हराया.

वहीं कागवाड़ में, भाजपा से श्रीमंत बालासाहेब पाटिल ने कांग्रेस के उम्मीदवार भरमगौड़ा अलागौड़ा केगे को 18,557 मतों के अंतर से हराया.

गोकक में भाजपा के जरखोली रमेश लक्ष्मणराव ने कांग्रेस के लखन लक्ष्मराव के खिलाफ 29,006 मतों के अंतर से जीत दर्ज की.

इसके साथ ही येल्लापुर में, भाजपा उम्मीदवार अरबेल हेब्बर शिवराम ने कांग्रेस के भीमन्ना नाइक को 31,408 मतों से हराया.

हिरेकरुर में भाजपा के बी.सी. पाटिल ने कांग्रेस के उम्मीदवार बानिकोड़ बसप्पा हनुमंतप्पा को 29,067 मतों से हराया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें