scorecardresearch
 

उत्तर प्रदेश में जंगलराज और गुंडाराज: मायावती

उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया पर एक पुलिस अधिकारी की हत्या के मामले में लगे आरोपों पर सोमवार को सपा और बसपा ने एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप किये वहीं मायावती ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की.

उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया पर एक पुलिस अधिकारी की हत्या के मामले में लगे आरोपों पर सोमवार को सपा और बसपा ने एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप किये वहीं मायावती ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की.

पुलिस उपाधीक्षक जिया उल हक की शनिवार को प्रतापगढ़ में भीड़ के हमले में जान चली गयी. वह एक जमीन विवाद में एक ग्राम प्रधान की गोली मारकर हत्या किये जाने के बाद वहां पहुंचे थे. हक की पत्नी ने राज्य के खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री राजा भैया पर हमले का आरोप लगाया है.

राजा भैया ने राज्य मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है.

बसपा प्रमुख मायावती ने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘उत्तर प्रदेश में जंगलराज और गुंडाराज है. मैंने उत्तर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन की भी मांग की है. जब पुलिस अधिकारी सुरक्षित नहीं हैं तो आम आदमी कैसे सुरक्षित महसूस करेगा. केंद्र सरकार को राष्ट्रपति शासन लगाने की पहल करनी चाहिए.’ आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने कहा, ‘मायावती का ऐसा कहना अनावश्यक है.’’ उन्होंने बसपा के शासनकाल में पार्टी के सांसदों और विधायकों के खिलाफ आपराधिक मामलों का भी जिक्र किया.

प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने की मायावती की मांग पर सपा महासचिव रामगोपाल यादव ने कहा, ‘वह जो कहना चाहें, कहने के लिए स्वतंत्र हैं. सब जानते हैं कि उत्तर प्रदेश में उनके शासन में क्या हुआ. मैंने मायावती के किसी आरोप को कभी गंभीरता से नहीं लिया और भविष्य में भी नहीं लूंगा.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें