scorecardresearch
 

J-K: बडगाम में पुलिस पार्टी पर आतंकी हमला, दो जवान घायल

जम्मू और कश्मीर के बडगाम में पुलिस पार्टी पर आतंकियों ने हमला किया है. इसमें दो जवान गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. वहीं, कुलगाम में आसिफ अहमद सरपंच पर आतंकियों ने फायरिंग की है. उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

बडगाम में आतंकी हमला (फाइल फोटो-PTI) बडगाम में आतंकी हमला (फाइल फोटो-PTI)

  • बडगाम में पुलिस पार्टी पर आतंकियों ने हमला किया
  • बीजेपी के नेता पर आतंकियों ने की फायरिंग

जम्मू और कश्मीर के बडगाम में पुलिस पार्टी पर आतंकियों ने हमला किया है. इसमें दो जवान गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. वहीं, कुलगाम में आसिफ अहमद सरपंच पर आतंकियों ने फायरिंग की है. उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वह बीजेपी के पंचायत सदस्य हैं.

बता दें कि जम्मू और कश्मीर से धारा 370 हटे कल एक साल पूरे हो रहे हैं. ऐसे में आतंकी बौखलाए हुए हैं. वह कश्मीर में अशांति फैलाने की कोशिश कर रहे, लेकिन सुरक्षाबल उनके मंसूबे को नाकाम कर दे रहे हैं.

ये भी पढ़ें- श्रीनगर-बारामुला हाइवे पर पुलिया के नीचे मिला IED, बड़ा हादसा टला

उधर, सीमपार से पाकिस्तान की बौखलाहट सामने आ रही है. उसने मंगलवार को विवादित नक्शा जारी किया, जिसमें कश्मीर, लद्दाख और सियासिन, जूनागढ़ को उसने अपना बताया. पहले पाकिस्तान सिर्फ पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर को अपना हिस्सा बताता था.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने इसे पाकिस्तान के इतिहास में सबसे ऐतिहासिक दिन करार दिया. विवादित नक्शे को मंजूरी इमरान खान की कैबिनेट में मिली. कैबिनेट बैठक के बाद इमरान खान ने नया पॉलिटिकल मैप जारी किया.

श्रीनगर-बारामुला नेशनल हाइवे पर आईईडी डिफ्यूज

इससे पहले मंगलवार को ही श्रीनगर-बारामुला नेशनल हाइवे पर सेना की रोड ओपनिंग पार्टी को एक आईईडी मिला. यह आईईडी टप्पर पट्टन के पेट्रोल पंप के पास एक पुलिया के नीचे लगाया गया था. आईईडी को डिफ्यूज कर दिया गया.

ये भी पढ़ें-370 हटने के एक साल पूरा होने से ठीक पहले श्रीनगर में लगा कर्फ्यू

खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक, आतंकी बुधवार को बड़ी वारदात को अंजाम दे सकते हैं. इसे देखते हुए सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हैं. एक आदेश में कहा गया कि ऐसी रिपोर्ट मिली है कि कुछ अलगाववादी और पाकिस्तान समर्थित संगठन जिले में 'ब्लैक डे' मनाने वाले हैं. इस वजह से श्रीनगर जिले में कर्फ्यू लगा दिया है. प्रशासन का कहना है कि अलगाववादी संगठन के लोग हिंसक प्रदर्शन भी कर सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें