scorecardresearch
 

कश्मीर में ISIS का प्लान 'ट्विटर' डिकोड

कश्मीर में इंटेलिजेंस एजेंसी ने एक ट्विटर हैंडल को ट्रैक किया है. 23 अक्टूबर को इस ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया गया था, जिसमें बताया गया कि कश्मीर में आईएसआईएस का पहला ग्रुप बनकर तैयार है.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

खुफिया एजेंसियों ने इस बात को लेकर चिंता जाहिर की है कि पाकिस्तान में बैठे आतंक के कुछ हैंडलर कश्मीरी युवाओं को रेडिकलाइज आतंक की आग में झोंक रहे हैं. हाल में ही आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा में शामिल हुए 20 साल का माजिद खान, आतंकी संगठनों के इस रेडिक्लाईजेशन का बड़ा उदाहरण है. लेकिन कश्मीर में आतंक के खिलाफ काम कर रहे सुरक्षा बलों ने इस युवा फुटबॉलर माजिद खान को मुख्यधारा में लाकर आतंकियों के मुंह पर तमाचा मारा है. अब आतंकी संगठन बौखलाहट में माजिद खान के सरेंडर के मामले में श्रेय लेने में जुटे हुए हैं.

माजिद खान कश्मीर में रेडिक्लाईजेशन की एक बानगी भर है, 'आजतक' को ये खुफिया जानकारी मिली है कि विश्व का सबसे खतरनाक आतंकी संगठन ISIS भी कश्मीर में अपनी पौध लगाने में जुटा हुआ है.

कश्मीर में इंटेलिजेंस एजेंसी ने एक ट्विटर हैंडल को ट्रैक किया है. 23 अक्टूबर को इस ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया गया था, जिसमें बताया गया कि कश्मीर में आईएसआईएस का पहला ग्रुप बनकर तैयार है. इस ट्विटर हैंडल को फिलहाल सस्पेंड कर दिया गया है. इंटेलिजेंस एजेंसी इस मैसेज की जांच कर रही है क्योंकि पिछले कुछ महीनों में घाटी में अक्सर आईएसआईएस के झंडे देखने को मिलते रहे हैं और आतंकियों के ऑपरेशन में ढेर होने के बाद उनके ऊपर भी ISIS का झंडा देखने को मिला है.

'आजतक' को खुफिया एजेंसी का वो नोट मिला है जिसमें ये साफ-साफ खुलासा किया गया है कि @JackMoosa नाम के ट्विटर हैंडल से 23 अक्टूबर को एक ट्वीट किया गया था. इस ट्वीट में फोटो भी अटैच थी. ट्वीट से दावा किया गया कि कश्मीर में आईएसआईएस ने कदम रख दिया है. यहां उसका एक ग्रुप बनकर तैयार है. ट्वीट में ये भी बताया गया कि लोकल टेररिस्ट ग्रुप आईएसआईएस में निष्ठा दिखा रहे हैं.  

ISIS से जुड़ा वीडियो भी किया जारी किया जिसको खुफिया ऐजेंसी ने डिकोड किया है. @JackMoosa के इस ट्विटर हैंडल से एक वीडियो भी जारी किया गया था. इस वीडियो से इस्लामिक स्टेट की ऑडियोलॉजी का प्रचार प्रसार किया जा रहा था. ट्विटर हैंडल से दावा किया गया था कि ये मैसेज आईएसआईएस की ओर से जारी किए जा रहे हैं.

सोशल मीडिया से युवाओं को भटका रहे आतंकी

इस ट्वीट के बाद से ही सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई हैं. फिलहाल इस ट्विटर हैंडल को सस्पेंड कर दिया गया है. वहीं, एजेंसियां ऐसे ही अन्य ट्विटर हैंडल को ट्रैक कर रही हैं. एजेंसियों को शक है कि सोशल मीडिया का सहारा लेकर कश्मीर में युवाओं को भटकाया जा रहा है. साथ ही खुफिया सूत्रों की मानें तो पाकिस्तान के समर्थन से कुछ हैंडलर्स सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर कश्मीर में युवाओं को भड़का रहे हैं.

रेडिक्लाईजेशन पर नजर रखेगा गृह मंत्रालय का काउंटर टेररिज्म एंड काउंटर रेडिक्लाईजेशन (CTCR) डिविजन

रेडिक्लाईजेशन की बढ़ती घटनाओं से निपटने के लिए गृह मंत्रालय ने पहली बार एक स्पेशल डिविजन बनाकर इससे निपटने का अलग प्लान तैयार किया है. गृह मंत्रालय ने इसका नाम दिया है काउंटर टेररिज्म एंड काउंटर रेडिक्लाईजेशन (CTCR) डिविजन. गृह मंत्रालय का एक जॉइंट सेक्रेटरी का अधिकारी इस डिविजन को हेड करेगा.

दरअसल जिस तरीके से सोशल मीडिया के जरिये ISIS अपनी पैठ बढ़ाने के लिए अलग अलग तरीकों का इस्तेमाल करता है उससे निपटने के लिए मोदी सरकार ने ये अलग गृह मंत्रालय में डिविजन बनाकर ये बता दिया है कि बगदादी के लड़ाके भारत में अपनी घुसपैठ नहीं कर पाएंगे. यही नहीं ये नया डिविजन भारत से बाहर सोशल मीडिया से रेडिक्लाईज होकर सीरिया जाने वाले ISIS के आतंकियों पर नजर रखेंगे. साथ ही कोई नया व्यक्ति सोशल मीडिया के जरिए रेडिक्लाईज होकर ISIS ना जॉइन कर सके इस पर भी कड़ी नजर रखी जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें