scorecardresearch
 

सामने आई इंदिरा गांधी और करीम लाला की तस्वीर, राउत के बयान से मचा है सियासी बवाल

शिवसेना नेता संजय राउत के द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की अंडरवर्ल्ड डॉन करीम लाला के साथ मुलाकात वाले बयान पर सियासी बवाल थमा नहीं है.

करीम लाला, ह्रदयनाथ चटोपाध्याय, इंदिरा गांधी (बाएं से दाएं) करीम लाला, ह्रदयनाथ चटोपाध्याय, इंदिरा गांधी (बाएं से दाएं)

  • संजय राउत के बयान पर विवाद जारी
  • इंदिरा गांधी-करीम लाला की तस्वीर आई
  • बयान के बाद संजय राउत ने माफी मांगी

शिवसेना नेता संजय राउत द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की अंडरवर्ल्ड डॉन करीम लाला के साथ मुलाकात वाले बयान पर सियासी बवाल थमा नहीं है. कांग्रेस की ओर से जताई गई आपत्ति के बाद संजय राउत ने बयान भले ही वापस ले लिया हो लेकिन अब एक तस्वीर सामने आई है, जिसमें इंदिरा गांधी और करीम लाला एक साथ दिख रहे हैं.

जो तस्वीर सामने आई है उसमें पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के साथ करीम लाला साथ दिख रहा है. तस्वीर में तीसरे शख्स ह्रदयनाथ चटोपाध्याय भी दिख रहे हैं. ये तस्वीर 1973 की है जब कवि ह्रदयनाथ चटोपाध्याय को भारत सरकार की ओर से पद्मभूषण से सम्मानित किया गया था.

kareem-lala_011620025656.jpgकरीम लाला के साथ इंदिरा गांधी

क्या है पूरा विवाद?

आपको बता दें कि शिवसेना सांसद संजय राउत ने बीते दिनों एक कार्यक्रम में बयान दिया था. संजय राउत ने दावा किया था कि इंदिरा गांधी मुंबई में अंडरवर्ल्ड डॉन करीम लाला से मिलने आती थीं. एक दौर था जब दाऊद इब्राहिम, छोटा शकील, शरद शेट्टी मुंबई पुलिस के कमिश्नर तय किया करते थे. इसी के साथ उनका काम सरकार में मंत्रियों का नाम भी तय करना था.

संजय राउत के इस बयान के बाद सियासी बवाल तेज हुआ था. भारतीय जनता पार्टी की ओर से कांग्रेस से सफाई मांगी गई थी और मामले समझाने के लिए कहा गया था. इधर बीजेपी से देवेंद्र फडणवीस लगातार हमला कर रहे थे तो संजय राउत सामने आए और अपना बयान वापस लिया.

वापस लिया बयान

बयान वापस लेते वक्त संजय राउत ने कहा, 'हमारे कांग्रेस के मित्रों को आहत होने की जरूरत नहीं है. अगर किसी को लगता है कि मेरे बयान से इंदिरा गांधी जी की छवि को धक्का पहुंचा है या किसी की भावनाओं को ठेस पहुंची है, तो मैं अपने बयान को वापस लेता हूं.'

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और कांग्रेस नेता बालासाहेब थोराट का कहना है कि संजय राउत के द्वारा जो बयान दिया गया है, वह गलत है. लेकिन अब उन्होंने अपना बयान वापस ले लिया है. ऐसे में आने वाले समय में उन्हें ध्यान रखना चाहिए, हमने इस बारे में उद्धव ठाकरे को बता दिया है.

Who is Karim Lala? जिससे इंदिरा गांधी के मिलने के दावे से फैली सियासी सनसनी

पोते ने भी लगाई थी मुहर?

संजय राउत के खुलासे के बाद करीम लाला का पोता सामने आया और इस पर मुहर लगाई. करीम लाला के पोते जेहनजेब खान ने कहा कि इंदिरा गांधी, करीम लाला से मिला करती थीं. करीम लाला के दफ्तर में इंदिरा गांधी के साथ मुलाकात की तस्वीरें भी हैं. सिर्फ इंदिरा ही नहीं बल्कि शरद पवार और बाल ठाकरे की तस्वीरें भी करीम लाला के साथ हैं.

बता दें कि मुंबई में जब अंडरवर्ल्ड अपने चरम पर था तब हाजी मस्तान मिर्जा को पहला माफिया डॉन माना गया था. लेकिन उस वक्त करीम लाला का भी अपना एक रुतबा था, जिसे हाजी मस्तान भी मानता था. हाजी मस्तान खुद कहता था कि करीम लाला ही असली डॉन है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें