scorecardresearch
 

प्रणब बोले- इतिहास से इंदिरा का नाम मिटाना नामुमकिन, सोनिया ने कहा- 'भारत की महान बेटी'

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रविवार को कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी भारत की 'महान बेटी' थीं. उन्होंने देश को एकजुट किया और उन ताकतों के खिलाफ लड़ीं जो लोगों को जाति और धर्म के नाम पर बांटने की कोशिश कर रहे थे.

X
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी एवं पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी एवं पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की 100वीं जयंती है. इस मौके पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और राहुल गांधी ने शक्ति स्थल जाकर इंदिरा को श्रद्धांजलि अर्पित की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को ट्वीट कर श्रद्धांजलि दी. इस मौके पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि इंदिरा एक ऐसी नेता थीं जिनको आज पूरा देश याद करता है. उन्होंने कहा कि इतिहास के पन्नों से उनका नाम नहीं मिटाया जा सकता.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रविवार को कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी भारत की 'महान बेटी' थीं. उन्होंने देश को एकजुट किया और उन ताकतों के खिलाफ लड़ीं जो लोगों को जाति और धर्म के नाम पर बांटने की कोशिश कर रहे थे.

इंदिरा की 100वीं जयंती के मौके पर आयोजित एक फोटो प्रदर्शनी के उद्घाटन के मौके पर सोनिया ने कहा, "मैंने सुना है कि इंदिरा जी को आयरन लेडी कहा जाता है. लेकिन मैं उनके बारे में यह कहूंगी कि उनमें उदारता और मानवता थी. वह लड़ीं, लेकिन अपने निजी हित के लिए नहीं लड़ीं. वह अपने सिद्धांत के लिए लड़ीं. उन्होंने गरीबों और शोषितों के लिए लड़ाई लड़ी और उनकी आवाज को एकसाथ जोड़ने का काम किया. देश को एकजुट किया."

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह , कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी तथा कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी वाले इस कार्यक्रम में सोनिया ने कहा, "इंदिरा जी धर्मनिरपेक्षता के लिए लड़ीं. उनकी लड़ाई उन ताकतों के खिलाफ थी जो भारत के लोगों को जाति और धर्म के नाम पर बांटने की कोशिश कर रहे थे. उन्होंने भारत की विविधता तथा मजबूत लोकतांत्रिक और धर्मनिरपेक्ष मूल्यों को आगे बढ़ाया."

पूर्व प्रधानमंत्री की विदेश नीति और सुरक्षा नीति की तारीफ करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, "वह एक संप्रभु देश के तौर पर भारत के हितों के लिए और महाशक्तियों के वर्चस्व के खिलाफ लड़ीं. बांग्लादेश की स्थापना उनके इसी रुख का प्रतीक है. वह भारत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नई ऊंचाइयों पर ले गईं."

उन्होंने कहा, "मैंने उनको बहुत करीब से देखा है. वह हमेशा देश के बारे में सोचती थीं. हम सब आज इस महान देश की महान बेटी को याद करने के लिए एकत्र हुए हैं."

पीएम मोदी ने ट्वीट किया कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को उनकी जयंती के मौके पर श्रद्धांजलि.

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, "दादी मैं आपको बेहद प्यार और खुशी के साथ याद कर रहा हूं। आप मेरी गुरु और मार्गदर्शक हैं। आप मुझे शक्ति देती हैं।"

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें