scorecardresearch
 

2050 तक चीन से भी आगे निकल जाएगा भारत: अंबानी

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी का कहना है कि 2050 तक भारत की अर्थव्यवस्था चीन से भी बड़ी हो जाएगी. हिन्दुस्तान टाइम्स की लीडरशिप सिमट में अंबानी ने कहा कि अगले 10 साल में भारत वर्तमान 2.5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी से बढ़कर 10 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बन जाएगा.

मुकेश अंबानी मुकेश अंबानी

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी का कहना है कि 2050 तक भारत की अर्थव्यवस्था चीन से भी बड़ी हो जाएगी. हिन्दुस्तान टाइम्स की लीडरशिप सिमट में अंबानी ने कहा कि अगले 10 साल में भारत वर्तमान 2.5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी से बढ़कर 10 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बन जाएगा. उन्होंने उम्मीद जताई कि इस सदी के आखिर तक हम दुनिया के सबसे समृद्ध देश बन सकते हैं. अंबानी ने चीऩ और अमेरिका से बराबरी की बात पर कहा कि इसी रफ्तार से भारत बढ़ता रहा तो हम इन देशों की भी बराबरी कर सकते हैं.

चौथी औद्योगिक क्रांति की जरूरत

भारत में चौथी औद्योगिक क्रांति की संभावना जताते हुए अंबानी ने कहा कि जो लोग समय के साथ कदमताल नहीं करेंगे, वे पीछे रह जाएंगे. नई तकनीक को अपनाने की वकालत करते हुए अंबानी ने कहा कि जो ऐसा नहीं करेंगे, वे प्रतियोगिता से बाहर हो जाएंगे. ऐसी क्रांति की नींव डेटा कनेक्टिविटी, कम्प्यूटिंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जरिए ही पड़ेगी.

भारत को होगा सबसे ज्यादा फायदा

अंबानी का कहना था कि भारत चौथी औद्योगिक क्रांति का नेतृत्वन करेगा, क्योंेकि यह युवा होने के साथ ही संकल्पे और महत्वाकांक्षाओं से भरा मुल्कय है. जिस तरह सातवें दशक की तीसरी औद्योगिक क्रांति का सबसे अधिक फायदा अमेरिका को मिला, उसी तरह चौथी क्रांति का बड़ा फायदा भारत को मिलेगा.

न्यू ऑयल ही नहीं न्यू सॉइल भी है डेटा

भारत में बढ़ते डेटा के प्रयोग पर कहा कि आज डेटा न सिर्फ न्यू ऑयल है, बल्कि यह न्यू सॉइल भी है. अंबानी ने कहा कि आने वाले साल भारत और चीन के होंगे, हालांकि ग्रोथ के मामले में भारत अपने पड़ोसी मुल्क‍ से आगे है. अंबानी ने तरक्की के लिए नई टेक्नोलॉजी को अपनाने पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि आज के दौर में किसी मुल्कं की तरक्की नए टेक्नोएलॉजी और एनर्जी के नए स्रोतों पर ही निर्भर करती है.

अगले 30 साल देश के लिए क्रांतिकारी

अंबानी ने कहा कि यह सुखद है कि देश का वर्तमान नेतृत्वक देश को तरक्की की राह पर ले जाने में सक्षम है. उसके पास विजन, संकल्प और कुछ कर गुजरने का माद्दा है. उन्होंने कहा कि 30 सालों के बाद देश को आजाद हुए एक सदी हो जाएगी. ऐसे में हमारी कोशिश होनी चाहिए कि तब तक हमारा देश दुनिया का सबसे प्रगतिशील देश बन जाए. इसके लिए अगले 30 साल देश के लिए क्रांतिकारी होंगे.

कैश-क्रेडिट कार्ड लेकर मैं नहीं चलता

देश के सबसे अमीर शख्स बनने के सवाल पर उन्होंने कहा कि न तो मैं पैसे लेकर चलता हूं और ना ही मेरे पास क्रेडिट कार्ड है. मेरे लिए कोई और भुगतान करता है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें