scorecardresearch
 

चीन के साथ तनाव के बीच वायुसेना का चिनूक हेलिकॉप्टर असम में तैनात

चिनूक को सबसे पहले चंडीगढ़ एयर बेस पर पिछले साल मार्च में शामिल किया गया था और सियाचिन ग्लेशियर पर मिलिट्री कैंप समेत उत्तरी क्षेत्र में परिचालन के लिए बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया गया था.

असम एयरबेस में शामिल हुआ चिनूक (फाइल-पीटीआई) असम एयरबेस में शामिल हुआ चिनूक (फाइल-पीटीआई)

  • चिनूक असम में मोहनबारी एयरबेस में शामिल हुआ
  • चंडीगढ़ एयरबेस में पिछले साल मार्च में हुआ था शामिल
चीन के साथ पिछले कई दिनों से तनावपूर्ण माहौल के बीच भारतीय वायुसेना ने चीनी सीमा के सटे असम में मोहनबारी एयरबेस पर संचालन के लिए चिनूक भारी हेलिकॉप्टर को शामिल किया है.

इस भारी भरकम हेलिकॉप्टर को हाल ही में उत्तर-पूर्व में शामिल किया गया था और इसका उपयोग निकट भविष्य में वजनी चीजों को ढोने और सैनिकों के स्थानांतरण के लिए किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें --- चीन मसले पर राजनाथ सिंह ने सेना प्रमुखों के साथ की बैठक, भारत नहीं रोकेगा सड़क निर्माण

चिनूक को सबसे पहले चंडीगढ़ एयर बेस पर पिछले साल मार्च में शामिल किया गया था और सियाचिन ग्लेशियर पर मिलिट्री कैंप समेत उत्तरी क्षेत्र में परिचालन के लिए बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया गया था.

चीन की सीमा पर सैनिकों और सामग्री की आपूर्ति के लिए चिनूक का बड़े पैमाने पर उपयोग किया जा सकेगा, जहां भारतीय सेना की चार टुकड़ियों को किसी भी दुस्साहसियों से बचाव के लिए तैनात किया गया है.

इसे भी पढ़ें- चीन-नेपाल संकट पर रविशंकर की दो टूक- मोदी के भारत को कोई आंख नहीं दिखा सकता

इस साल गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान भारतीय वायुसेना की झांकी में राफेल लड़ाकू विमान से लेकर एयरक्राफ्ट चिनूक भी शामिल किया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें