scorecardresearch
 

बांग्लादेश की मांग पर भारत लगा सकता है जाकिर नाइक पर बैन

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि जाकिर नाइक के पिछले दिनों दिए बयानों को सुरक्षा एजेसियां खंगाल रही हैं. उन्होंने कहा कि इस मुद्दे को लेकर भारत सरकार बेहद गंभीर है और लगातार बांग्लादेश के संपर्क में है.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने कहा है कि भारत इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक पर बैन लगा सकता है, अगर बांग्लादेश की ओर से ऐसी कोई मांग की जाती है. रिजिजू ने बताया कि भारत गैरकानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम (अनलॉफुल एक्टिविटीज प्रेवेंशन एक्ट) के तहत कार्रवाई कर सकता है.

किसी शख्स पर नहीं की गई UAPA के तहत कार्रवाई
रिजिजू ने आगे बताया कि इस अधिनियम का इस्तेमाल ऐसे संगठनों को बैन करने के लिए किया जाता है, जिनसे देश की सुरक्षा को खतरा हो. अभी तक इस एक्ट के जरिए किसी शख्स पर बैन नहीं लगाया गया. रिजिजू ने कहा कि अगर नाइक के खिलाफ लगे आरोपों के सबूत मिलते हैं, तो फिर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

बांग्लादेश की मांग पर होगा विचार
रिजिजू ने बताया कि भारतीय गृह मंत्रालय धार्मिक कट्टरता को बढ़ावा देने वाले सभी माध्यमों पर नजर रखने की योजना बना रहा है. भारत के लिए बांग्लादेश की सुरक्षा ज्यादा जरूरी है. अगर बांग्लादेश की ओर से ऐसी मांग की जाती है, तो उस गंभीरता से विचार किया जाएगा.

दूसरे धर्मों के खिलाफ नफरत फैलाने का आरोप
नाइक पर दक्षिण एशिया के मुस्लिमों को कट्टरता के लिए उकसाने का आरोप है. नाइक मुंबई आधारित इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन का संस्थापक है, जिसे ब्रिटेन और कनाडा में बैन किया गया है. नाइक पर दूसरे धर्मों के खिलाफ नफरत फैलाने का आरोप है और उसे मुस्लिम बहुल देश मलेशिया में भी बैन किया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें