scorecardresearch
 

कोरोना संकट: एयर बबल के रूट में शामिल हुआ मालदीव

भारत और मालदीव के बीच एयर बबल रूट बनाने पर समझौता हुआ है. लंबे वक्त से अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध है, जिन्हें रूट के जरिए खोला जाएगा.

फाइल फोटो फाइल फोटो

  • कोरोना संकट के बीच बनाए जा रहे एयर बबल
  • इन रूट पर यात्रियों को मिलेगी सफर की छूट

कोरोना वायरस संकट काल के कारण काफी लंबे वक्त से अंतरराष्ट्रीय विमान सेवा रुकी हुई है. इस बीच भारत सरकार कई देशों के साथ मिलकर एयर बबल बना रही है, जिसके तहत एक नियमित रूट से ही कुछ देशों से फ्लाइट को मंजूरी दी जाएगी. गुरुवार को इन देशों की लिस्ट में मालदीव को भी शामिल कर लिया गया है.

भारत ने अबतक अमेरिका, यूके, फ्रांस, जर्मनी और कनाडा के साथ एयर बबल बनाया है. इसके अलावा कुछ हदतक UAE को भी शामिल किया गया है. अब सरकार ने मालदीव को जोड़ने का फैसला लिया है, जो इस लिस्ट में शामिल होने वाला पहला पड़ोसी है.

मालदीव में काफी बड़ी संख्या में भारतीय मूल के लोग रहते हैं और पर्यटन के हिसाब से भी दोनों देशों में यात्राएं होती हैं. ऐसे में इस फैसले को लिया गया है.

Explainer: कई देशों के साथ भारत का 'एयर बबल्स' करार, जानें क्या हैं इसके मायने

एयर बबल के नियमों के मुताबिक, इन देशों के साथ हुए समझौते में निश्चित रूट पर यात्रियों को बिना किसी रोक-टोक के आने-जाने की इजाजत होगी. इसमें मुख्य तौर पर OCI कार्ड होल्डर और बाहर रह रहे भारतीयों के लिए छूट दी गई है. कई देशों के साथ 17 अगस्त से ही ये सुविधा शुरू हो जाएगी, जिसमें भारतीय पासपोर्ट धारक यात्री को किसी भी वीजा के तहत यात्रा करने की सुविधा मिलेगी.

गौरतलब है कि कई देशों के नागरिक भारत में भी फंसे हुए हैं और भारत के नागरिक भी बाहर फंसे हुए हैं, ऐसे में पूरी तरह से उड़ान की सुविधा शुरू ना होने के कारण ये फैसला लिया गया है.

ये भी पढ़ें: वंदे भारत से लेकर घरेलू उड़ानों तक... हरदीप पुरी ने गिनाई उपलब्धि

कोरोना संकट के कारण मार्च से ही देश में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक है, हालांकि वंदे भारत मिशन के तहत बाहर फंसे लोगों को वापस लाया जा रहा है. लेकिन इन एयर बबल वाले क्षेत्रों में बिना किसी रोकटोक की यात्रा की सुविधा होगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें