scorecardresearch
 

मोदी के भाषण के बाद ट्विटर पर छाया तीन तलाक का मुद्दा, लोग बोले- उल्टे दिन शुरू

मोदी के भाषण के बाद सोशल मीडिया पर भी तीन तलाक का मुद्दा छा गया. लोगों ने इस मुद्दे पर अपनी बात कही. कई लोगों ने मांग की तीन तलाक को जल्द से जल्द खत्म करना चाहिए, तो वहीं लोगों ने भाषण में इस बात का जिक्र करने पर पीएम मोदी की तारीफ भी की.

फोटो क्रेडिट : PTI फोटो क्रेडिट : PTI

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को लालकिले से संबोधित किया. पीएम ने करीब 1 घंटे तक लाल किले से भाषण दिया. उन्होंने इस दौरान कई मुद्दों पर अपनी बात रखी, लेकिन इस दौरान सबसे बड़ी बात रही तीन तलाक का मुद्दा. पीएम ने अपने भाषण में कहा कि तीन तलाक के कारण कुछ महिलाओं को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही हैं, तीन तलाक से पीड़ित बहनों ने देश में आंदोलन खड़ा किया, मीडिया ने उनकी मदद की. तीन तलाक के खिलाफ आंदोलन चलाने वाली बहनों का मैं अभिनंदन करता हूं, पूरा देश उनकी मदद करेगा.

मोदी के भाषण के बाद सोशल मीडिया पर भी तीन तलाक का मुद्दा छा गया. लोगों ने इस मुद्दे पर अपनी बात कही. कई लोगों ने मांग की तीन तलाक को जल्द से जल्द खत्म करना चाहिए, तो वहीं लोगों ने भाषण में इस बात का जिक्र करने पर पीएम मोदी की तारीफ भी की.

 

 

क्या बोले पीएम मोदी

लाल किले से देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मेरे प्यारे देशवासियों आजादी के पावन पर्व पर देशवासियों को कोटि-कोटि शुभकामनाएं. आज देश पूरा देश आजादी के पर्व के साथ जन्माष्टमी का पर्व भी मना रहा है. मेरे सामने बाल कन्हैया भी बैठे हैं. सुदर्शन चक्र धारी मोहन से लेकर चरखाधारी मोहन तक हमारी सांस्कृतिक ऐतिहासिक विरासत के हम सभी धनी हैं. देश की आजादी के लिए जिन-जिन लोगों ने अपना योगदान दिया है, यातनाएं झेली हैं, बलिदान दिया है त्याग और तपस्या की परिकाष्ठा की है ऐसे सभी महानुभावों और माता-बहनों को लाल किले की प्राचीर से, 125 करोड़ भारतीयों की तरफ से शत-शत नमन.

पीएम मोदी ने कहा कि प्राकृतिक आपदाएं कभी-कभी बहुत बड़ी चुनौती बन जाती है, अच्छी वर्षा देश को फलने-फूलने में बहुत योगदान देती हैं. लेकिन जलवायु परिवर्तन का नतीजा है लेकिन कभी इन आपदाओं से संकट भी पैदा होता है. पिछले दिनों अस्पताल में मासूम बच्चों की मौत हुई, इस संकट की कड़ी में सभी देशवासियों एक साथ हैं. मैं देशवासियों को विश्वास दिलाता हूं कि ऐसे संकट के समय पूर्ण संवेदनाओं के साथ हम जनसुरक्षा के साथ कुछ भी करने में कमी नहीं रहने देंगे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें