scorecardresearch
 

IMA स्कैम: तीन दिन की रिमांड में मंसूर खान, ED करेगी पूछताछ

मंसूर खान से दिल्ली में पूछताछ की गई. ईडी को रात में ही मंसूर खान के खिलाफ मजिस्ट्रेट जज से ट्रांजिट रिमांड मिल गया था. जिसके बाद उसे बेंगलुरु ले जाया गया. अब ईडी को मंसूर खान की तीन दिन की रिमांड मिल गई है.

मंसूर खान मंसूर खान

इस्लामिक बैंक के नाम पर हजारों लोगों से धोखाधड़ी करने के आरोपी मंसूर खान पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शिकंजा कस दिया है. मंसूर खान की गिरफ्तारी के बाद आज उसे कोर्ट में पेश किया गया है, जहां से मंसूर को तीन दिन के लिए ईडी की रिमांड में भेज दिया गया है.

इंडिया टुडे को पता चला है कि शनिवार सुबह मंसूर खान को बेंगलुरु ले जाने के बाद, ईडी और कर्नाटक एसआईटी के बीच उसकी कस्टडी को लेकर ठन गई है. दोनों चाहती हैं कि 2000 करोड़ के पोंजी घोटाले के सिलसिले में मंसूर से पूछताछ करने के लिए सबसे उन्हें उसकी कस्टडी मिले.

मंसूर को हिरासत में लिए जाने के लिए या संयुक्त पूछताछ के लिए कर्नाटक एसआईटी अदालत में अर्जी दाखिल कर सकती है. सूत्रों के मुताबिक, 'मंसूर की गिरफ्तारी प्रवर्तन निदेशालय द्वारा की गई है इसलिए प्राथमिक एजेंसी को ही पूछताछ का अधिकार है.'

शुक्रवार को हुई गिरफ्तारी

2000 हजार करोड़ के पोंजी घोटाले के मास्टरमाइंड माने जा रहे मंसूर खान को शुक्रवार को दुबई से दिल्ली लाया गया. फिलहाल वह ईडी की हिरासत में है. बता दें कि मंसूर खान पर ईडी के साथ-साथ एसआईटी ने भी लुक आउट सर्कुलर जारी किया था.

इसके बाद शुक्रवार को मंसूर खान से दिल्ली में पूछताछ की गई. ईडी को रात में ही मंसूर खान के खिलाफ मजिस्ट्रेट जज से ट्रांजिट रिमांड मिल गया था. जिसके बाद उसे बेंगलुरु ले जाया गया. ईडी की टीम भी शनिवार की सुबह बेंगलुरु पहुंच चुकी है. यहां मंसूर को एक विशेष पीएमएलए अदालत में पेश किया जाएगा. माना जा रहा है कि एसआईटी भी कोर्ट से उसे हिरासत में लेने की बात कहेगी.

2006 में मोहम्मद मंसूर खान ने आईएमए के नाम से कंपनी खोली थी. मंसूर ने कंपनी को इस्लामिक कानून के मुताबिक हलाल इनवेस्टमेंट के मोड में रखा. निवेश के लिए उसने शुरुआत में कई मौलानाओं से संपर्क किया और उनके जरिए धनी मुस्लिम परिवारों तक पहुंचा.

वो दोगुना मुनाफा देने की शर्त पर निवेश करवाता चला गया. अनुमान है कि अप्रैल 2019 में मंसूर का आईएमए ग्रुप 2000 करोड़ का हो गया. 7 जून, 2019 के बाद अचानक ही कंपनी के हालात खस्ता हो गए और मंसूर खान विदेश फरार हो गया. इसके बाद वो दुबई में जाकर छुप गया था. वह एक महीने से फरार था और उसके दुबई में होने की जानकारी मिली थी, जिसके बाद उसे भारत लाया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें