scorecardresearch
 

जरूरत पड़ी तो बोलूंगा बाला साहेब की भाषा: उद्धव ठाकरे

बाला साहेब के निधन के बाद उद्धव ठाकरे पहली बार गरजे हैं. सामना को दिए इंटरव्यू में उद्धव ठाकरे ने साफ कर दिया है कि शिवसेना में अभी दम बाकी है. अपने इंटरव्यू में उद्धव ने एमएनएस समेत सभी विरोधियों को चेतावनी दी है. साथ ही गृहमंत्री सुशील शिंदे की जमकर खिंचाई भी की है.

उद्धव ठाकरे उद्धव ठाकरे

बाला साहेब के निधन के बाद उद्धव ठाकरे पहली बार गरजे हैं. सामना को दिए इंटरव्यू में उद्धव ठाकरे ने साफ कर दिया है कि शिवसेना में अभी दम बाकी है. अपने इंटरव्यू में उद्धव ने एमएनएस समेत सभी विरोधियों को चेतावनी दी है. साथ ही गृहमंत्री सुशील शिंदे की जमकर खिंचाई भी की है.

भाषा भले ही बाल ठाकरे जैसी हो लेकिन ये चेतावनी दी है उद्धव ठाकरे ने. साफ-साफ कहा है कि सेना के रास्ते में टांग मत अड़ाए एमएनएस. उद्धव ठाकरे ने ये चेतावनी शिवसेना के मुखपत्र सामना में एक इंटरव्यू में दी है.

उद्धव ने शिवसेना के पूर्व नेता बाला नान्गांवकर के उस बयान को निशाना बनाया, जिसमें उन्होंने शिवसेना नेताओं के दूसरी पार्टियों में शामिल होने की बात कही थी. उद्धव ने कहा है कि बाला नान्गांवकर से कहो खुशी से ले जायें और खुश रहें. अगर एक भी गया तो मैं करता हूं तुम्हारा सार्वजनिक सत्कार. स्वयं बिकाऊ हैं तो दुनिया बिकाऊ नहीं हो जाती, जाओ खुश रहो और शिवसेना के आड़े मत आओ.

बाला साहेब ठाकरे के निधन के बाद शिवसेना को कमजोर आंका जा रहा था..लेकिन उद्धव की दहाड़ ने साफ कर दिया है कि शिवसेना में अभी दम बाकी है. अपने इंटरव्यू में उद्धव ने साफ-साफ कहा है कि अगर जरूरत पड़ी तो बाला साहेब की भाषा में भी बात करूंगा.

विरोधियों के साथ ही उद्धव ठाकरे ने गृहमंत्री सुशील शिंदे पर भी निशाना साधा है. इंटरव्यू में उद्धव ने हिंदू आतंकवाद पर दिए गृहमंत्री के बयान की भी जबरदस्त खिंचाई की. उद्धव ने कहा है कि ऐसा लगता है की गलती से पाकिस्तानी मंत्रिमंडल का मंत्री हमारे देश का गृहमंत्री बन गया है.

अभी तक माना जा रहा था कि शिवसेना और एमएनएस महाराष्ट्र में एक साथ बड़ी ताकत बनकर उभर सकते हैं. लेकिन उद्धव ठाकरे के ताजा बयान से लगता है कि दोनों भाइयों के बीच दूरियां फिर बढ़ गई हैं, खाई फिर चौड़ी हो गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें