scorecardresearch
 

पंचकूला हिंसा मामले में गुरमीत राम रहीम को आरोपी बनाने के लिए उसके ही चेले पहुंचे हाईकोर्ट!

गुरमीत राम रहीम के दो पूर्व चेलों ने हाई कोर्ट में याचिका दायर करते हुए कहा है कि बाबा खुद देशद्रोह और हिंसा के षड्यंत्र में शुमार था इसलिए उसे भी मामले में आरोपी बनाया जाए.

गुरमीत राम रहीम गुरमीत राम रहीम

पंचकूला डेरा हिंसा मामले में एक ओर जहां हरियाणा पुलिस डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को आरोपी बनाने से डर रही है, वहीं उसके ही दो चेले राम कुमार बिश्नोई और सुखविंदर सिंह ने बलात्कारी बाबा को मामले में आरोपी बनाने के लिए पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है.

गुरमीत राम रहीम के दो पूर्व चेलों ने हाई कोर्ट में याचिका दायर करते हुए कहा है कि बाबा खुद देशद्रोह और हिंसा के षड्यंत्र में शुमार था इसलिए उसे भी मामले में आरोपी बनाया जाए. याचिका में गुरमीत राम रहीम पर आरोप लगाया है कि उसने हिंसा भड़काने के लिए अपने अनुयायियों को गुमराह किया. याचिकाकर्ताओं ने गुरमीत राम रहीम की गिरफ्तारी के बाद डेरे से बाहर ले जाई गई करोड़ों रुपए की नकदी और दूसरी कीमती चीजों को छिपाने के मामले की जांच की मांग भी की है.

याचिकाकर्ताओं ने मामले में गुरमीत राम रहीम के परिवार के सदस्यों, हरियाणा सरकार, हरियाणा पुलिस प्रमुख, पुलिस कमिश्नर पंचकूला को भी पार्टी बनाया है. गुरमीत राम रहीम के चेलों ने बाबा के परिवार के सदस्यों के खिलाफ भी मामला दर्ज करने की मांग की है और आरोप लगाया है कि बाबा के परिवार के सदस्यों ने भी अनुयायियों को हिंसा के लिए उकसाया.

याचिका में कहा गया है कि 25 अगस्त के दिन कई जगहों पर हुई हिंसा के मामले की जांच सीबीआई से करवाई जाए. पिछले साल 25 अगस्त के दिन सीबीआई की विशेष अदालत द्वारा गुरमीत राम रहीम को बलात्कार के दो मामलों में दोषी पाए जाने के बाद पंचकूला में हिंसा भड़क गई थी जिसमें 36 लोगों की मौत हुई. गुरमीत राम रहीम के बिगड़ैल चेलों ने करोड़ों रुपए की सरकारी और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया जिससे पंजाब और हरियाणा सरकार को संपत्ति और राजस्व का करीब 400 करोड रुपए का घाटा हुआ. मामला अभी भी हाईकोर्ट में लंबित है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें