scorecardresearch
 

दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री मदन लाल खुराना का हुआ अंत‍िम संस्कार, द‍िग्गज नेता हुए शाम‍िल

मदन लाल खुराना के पार्थिव शरीर को दिल्ली बीजेपी पंत मार्ग दफ्तर पर लाया गया जहां बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी. बीजेपी के पंत मार्ग दफ्तर पर विदेशमंत्री सुषमा स्वराज, अरुण जेटली, शाहनवाज हुसैन, भगतसिंह कोश्यारी जैसे दिग्गज बीजेपी नेता जुटे. फ‍िर पार्थिव शरीर को निगम बोध घाट में अग्नि के हवाले कर दिया गया.

X
मदन लाल खुराना का अंत‍िम संस्कार ( Photo: aajtak) मदन लाल खुराना का अंत‍िम संस्कार ( Photo: aajtak)

दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री मदन लाल खुराना के पार्थिव शरीर को रविवार को निगम बोध घाट में अग्नि के हवाले कर दिया गया. अंतिम संस्कार के इस मौके पर हजारों लोगों ने निगम बोध घाट पहुंचकर अपने प्रिय नेता को नमन किया. निगम बोध घाट पर लालकृष्ण आडवाणी, केंद्रीय मंत्री विजय गोयल, केंद्रीय मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन, दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी जैसे कद्दावर नेता जुटे.

निगम बोध घाट पहुंचकर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि मदन लाल खुराना ऐसी शख्सियत थे जो दिल्ली को बहुत चाहते थे. दिल्ली ने अपना चाहने वाला खोया है इसलिए सरकार 2 दिन के राजकीय शोक की घोषणा करती है.

योगदान को भाजपा का हर कार्यकर्ता याद रखेगा

इससे पहले मदन लाल खुराना के कीर्ति नगर स्थित घर पर सुबह उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपराज्यपाल अनिल बैजल समेत कई लोगों ने उनके अंतिम दर्शन किए. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मदन लाल खुराना के जाने से बीजेपी परिवार को अपूरणीय क्षति हुई है. उनके योगदान को भाजपा का हर कार्यकर्ता याद रखेगा.

बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी

इसके बाद 12:00 बजे के करीब मदन लाल खुराना के पार्थिव शरीर को दिल्ली बीजेपी पंत मार्ग दफ्तर पर लाया गया जहां बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी. बीजेपी के पंत मार्ग दफ्तर पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, अरुण जेटली, शाहनवाज हुसैन, भगत सिंह कोश्यारी जैसे दिग्गज बीजेपी नेता जुटे.

बीजेपी के दिल्ली में पहले मुख्यमंत्री

ज्ञात हो कि 83 वर्ष की आयु में मदन लाल खुराना का शन‍िवार रात 11:00 बजे निधन हो गया था. वह बीजेपी के दिल्ली में पहले मुख्यमंत्री थे. मदनलाल खुराना को अपने जुझारू तेवर के चलते दिल्ली का शेर कहा जाता था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें