scorecardresearch
 

आतंक परस्त पाकिस्तान को भारत का एक और सख्त संदेश, इस्लामाबाद नहीं जाएंगे अरुण जेटली

सरकारी सूत्रों के मुताबिक, सार्क देशों के वित्‍त मंत्रियों की बैठक में वित्‍त मंत्री अरुण जेटली पाकिस्‍तान नहीं जाएंगे. उनकी जगह आर्थिक मामलों के सचिव शक्ति‍कानंत दास भारत का प्रतिनिधित्‍व करेंगे.

वित्त मंत्री अरुण जेटली वित्त मंत्री अरुण जेटली

25-26 अगस्त को पाकिस्तान में होने वाले वित्त मंत्रियों के सार्क सम्मेलन में वित्त मंत्री अरुण जेटली नहीं जाएंगे. कश्मीर पर बयानबाजी से हुई तनातनी के बीच सरकार ने अरुण जेटली के पाकिस्तान न जाने का फैसला किया है.

अरुण जेटली की बजाय अब भारत का प्रतिनिधित्व आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास करेंगे. इसके जरिए भारत ने पाकिस्ता न को एक कड़ा मैसेज देने की कोशिश की है. 15 अगस्त को लाल किले से भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान को खरी खरी सुनाई थी. मोदी ने इस मौके पर ब्लूचिस्तान और पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर का जिक्र किया था.

गृह मंत्री राजनाथ सिंह के साथ पाकिस्तान में गृहमंत्रियों के सार्क सम्मेहलन में ठीक व्यवहार न होने से भी भारत काफी नाराज था. हालांकि राजनाथ सिंह आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को खरी खरी सुना कर आए थे. वहां पर राजनाथ सिंह ने लंच भी नहीं किया था. समय से पहले ही वो अपना दौरा खत्म कर दिल्लीं लौट आए थे.

हालांकि पाकिस्तान ने इन सब चीजों के चलते वित्त मंत्री अरुण जेटली का स्वागत गर्मजोशी से करने की बात भी कही थी. मगर राजनाथ सिंह के साथ व्यवहार और पाकिस्तान को मोदी की ओर से कड़ा संदेश देने के चलते जेटली का दौरा रद्द किया गया है.

पाक ने कहा- हम अच्छे मेजबान की भूमिका में
भारत-पाक द्विपक्षीय संबंधों में मौजूदा अशांत माहौल के बीच यह बैठक 25 और 26 अगस्त को इस्लामाबाद में होनी है. पिछले दिनों पाकिस्तानी वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि इस दौरान पाकिस्तान के वित्त मंत्री इसहाक डार अपने भारतीय समकक्ष से सौहार्दपूर्ण ढंग से हाथ मिला सकते हैं.

पाकिस्तानी वित्त मंत्रालय ने कहा, 'सरकार ने आगामी SAARC सम्मेलन की तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया है. पाकिस्तान अच्छे मेजबान की भूमिका अदा करेगा और पूरे माहौल को सकारात्मक बनाए रखने का प्रयास करेगा.'

बिना खाना खाए लौट आए थे राजनाथ
गौरतलब है कि इसी महीने SAARC के गृह मंत्रियों की बैठक में माहौल उस वक्त तनावपूर्ण हो गया था जब, राजनाथ सिंह और पाकिस्तानी गृह मंत्री चौधरी निसार अली खान के बीच तल्ख बयानबाजी हुई थी. राजनाथ सम्मेलन के बाद बिना भोजन किए पाकिस्तान से लौट आए थे. दोनों नेताओं ने आतंकवाद और कश्मीर में हिंसा को लेकर एक दूसरे के देशों पर निशाना साधा था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें