scorecardresearch
 

फेसबुक विवादः थरूर और निशिकांत का एक-दूसरे को विशेषाधिकार उल्लंघन का नोटिस

FB विवाद पर सूचना प्रौद्योगिकी (IT) मामलों की संसदीय स्थायी समिति के निशिकांत दुबे ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ भी विशेषाधिकार के उल्लंघन का नोटिस भेजा है. इस बीच बीजेपी सांसद और सदस्य निशिकांत दुबे के खिलाफ समिति के अध्यक्ष शशि थरूर ने भी नोटिस भेजा है.

IT मामलों की संसदीय स्थायी समिति के चेयरमैन शशि थरूर  (फाइल-पीटीआई) IT मामलों की संसदीय स्थायी समिति के चेयरमैन शशि थरूर (फाइल-पीटीआई)

  • थरूर ने स्पीकर को विशेषाधिकार उल्लंघन का पत्र भेजा
  • थरूर का दावा- निशिकांत ने फैसले की आलोचना भी की
  • निशिकांत ने थरूर के अलावा राहुल को भी नोटिस भेजा

अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जनरल (डब्लूएसजे) में छपे एक लेख के बाद भारत में फेसबुक को लेकर राजनीति गरमा गई है. फेसबुक विवाद को लेकर सूचना प्रौद्योगिकी (IT) मामलों की संसदीय स्थायी समिति की अध्यक्षता करने वाले कांग्रेस नेता शशि थरूर और समिति के सदस्य निशिकांत दुबे ने एक-दूसरे के खिलाफ विशेषाधिकार के उल्लंघन का नोटिस भेजा है.

सूचना प्रौद्योगिकी (IT) मामलों की संसदीय स्थायी समिति के सदस्य निशिकांत दुबे ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ भी विशेषाधिकार के उल्लंघन का नोटिस भेजा है. इस बीच बीजेपी सांसद और सदस्य निशिकांत दुबे के खिलाफ समिति के अध्यक्ष शशि थरूर ने भी नोटिस भेजा.

फैसले की आलोचना कीः शशि

शशि थरूर ने लोक सभा स्पीकर को विशेषाधिकार उल्लंघन का पत्र भेजा है. कांग्रेस नेता शशि थरूर का कहना है कि बीजेपी नेता निशिकांत दुबे ने फेसबुक के कथित कदाचार पर चर्चा के लिए एक समिति की बैठक बुलाने के अपने फैसले के बारे में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर असहमतिपूर्ण टिप्पणी की. थरूर का यह भी दावा है कि निशिकांत दुबे ने उनके फैसले की अपमानजनक तरीके से आलोचना भी की.

दूसरी ओर, बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने न सिर्फ शशि थरूर बल्कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन को लेकर शिकायत की है. उनका कहना है कि राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा था, 'भारत में फेसबुक और वॉट्सऐप पर बीजेपी और आरएसएस का कब्जा है. इसके जरिए ये फेक न्यूज और नफरत फैलाते हैं और चुनाव को प्रभावित करने में भी इस्तेमाल करते हैं. आखिरकार अमेरिकी मीडिया फेसबुक का सच बाहर ले ही आई.'

इसे भी पढ़ें --- फेसबुक विवाद में अब संसद की कमेटी पर बवाल, थरूर के एक्शन पर सवाल

बीजेपी सांसद दुबे का दावा है कि संसद जिसमें बीजेपी से जुड़े लोग भी शामिल हैं. बीजेपी से संबंधित सांसदों के खिलाफ उक्त बेबुनियाद आरोप लगाकर राहुल गांधी ने ऐसे सभी संसद सदस्यों की गरिमा को ठेस पहुंचाया है और उनके संसदीय विशेषाधिकार का उल्लंघन किया है. दुबे कहते हैं कि यह सदन की अवमानना ​​भी है.

दरअसल, सूचना प्रौद्योगिकी (IT) मामलों की संसदीय स्थायी समिति के अध्यक्ष और कांग्रेस नेता शशि थरूर ने फेसबुक मामले को लेकर फेसबुक से जवाब मांग लिया था. जिसके बाद इस संसदीय स्थायी समिति में शामिल एनडीए के सदस्यों ने आरोप लगाया कि थरूर ने बिना किसी से चर्चा के ही बैठक का एजेंडा तय कर लिया.

इसे भी पढ़ें --- फेसबुक विवादः संसदीय समिति मांग सकती है स्पष्टीकरण, थरूर के ट्वीट पर BJP ने जताया विरोध

एनडीए के सदस्यों का यह भी कहना है कि वह सोशल प्लेटफॉर्म पर एजेंडा पोस्ट कर रहे हैं. साथ ही दावा किया कि वह समिति में कांग्रेस का एजेंडा शामिल करने की कोशिश कर रहे हैं.

शशि थरूर के ट्वीट पर बीजेपी नेता निशिकांत दुबे ने फिर पलटवार करते हुए कहा कि स्थायी समिति के चेयरमैन के पास अपने सदस्य के साथ एजेंडा की चर्चा के बिना कुछ भी करने का अधिकार नहीं है. ये मुद्दे संसदीय समिति के नियमों के मुताबिक उठाए जा सकते हैं. इसलिए शशि थरूर कांग्रेस और राहुल गांधी का एजेंडा फैलाना बंद करें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें