scorecardresearch
 

गृह मंत्री राजनाथ सिंह बोले- यूं ही विरोध चलता रहा तो टूट जाएगा देश

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने अवॉर्ड वापसी के मुद्दे पर हैरानी जताते हुए कहा है कि उन्हें अब तक इसकी वजह समझ नहीं आई है. उन्होंने कहा कि देश का गृह मंत्री होने के नाते वह उन सभी लोगों से बैठकर बातचीत करने को तैयार हैं जो अवॉर्ड लौटाकर कथित विरोध जता रहे हैं.

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने अवॉर्ड वापसी के मुद्दे पर हैरानी जताते हुए कहा है कि उन्हें अब तक इसकी वजह समझ नहीं आई है. उन्होंने कहा कि देश का गृह मंत्री होने के नाते वह उन सभी लोगों से बैठकर बातचीत करने को तैयार हैं जो अवॉर्ड लौटाकर कथित विरोध जता रहे हैं.

'आज तक' से खास बातचीत में उन्होंने कहा, 'मैंने सभी को आमंत्रित किया था पर कोई भी जवाब नहीं आया. मैं एक बार फिर बुलाना चाहता हूं सभी को जिन्होंने अवॉर्ड वापस किया और उनसे पूछना चाहता हूं कि उनको क्या लगता है कि क्यों असहिष्णुता बढ़ रही है? ऐसा क्या हुआ और कैसे हम समाधान निकालें? क्योंकि ऐसी चीजों का समाधान मिलकर और बात करके ही निकाला जा सकता है.' गृह मंत्री ने कहा कि बातचीत का दरवाजा खुला है, उसके बावजूद आप प्रदर्शन कर रहे हैं, अवॉर्ड वापस कर रहे हैं.

'ऐसा ही रहा तो टूट जाएगा देश'
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री की अपनी सीमाएं हैं. वह हर मुद्दे पर नहीं बोल सकते. मंत्रालयों के मुद्दे निर्धारित हैं और उन पर पीएम के बयान की कोई जरूरत महसूस नहीं होती. जिस तरह लोग बार-बार पीएम से बयान देने की मांग और उनका इस्तीफा मांग रहे हैं वह क्रेडिबिलिटी क्राइसिस क्रिएट करने की कोशिश है. उन्होंने कहा कि किसी संवैधानिक पद की प्रतिष्ठा को गिरानी की ऐसी ही कोशिश होती रही तो देश टूट जाएगा.

आखिर कैसे निकलेगा समाधान?
राजनाथ सिंह ने कहा कि देश में विरोध की जो लहर चल रही उसमें कोई भी बात करने या समाधान बताने को राजी नहीं है. उन्होंने कहा कि सरकार बातचीत के लिए तैयार है लेकिन कोई नहीं आ रहा तो कैसे समाधान निकलेगा? नफरत फैलाकर सरकार देश को नहीं चलाना चाहती. उन्होंने कहा कि कौन नेता क्या बोल रहा है इस पर वह टिप्पणी नहीं करना चाहते. क्योंकि हो सकता जिसे सब नेता मानते हों, उसे वह नेता नहीं मानते.

छोटा राजन के बाद अब दाऊद को भारत लाने के मुद्दे पर जब उनसे सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि हम ऐसा कोई वादा नहीं कर रहे हैं. इन सब मामलों पर काम चल रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें