scorecardresearch
 

आतंकवाद खत्म हो तभी पाकिस्तान से सुधरेंगे संबंध: विदेश सचिव

पाकिस्तान के मुद्दे पर विदेश सचिव ने कहा कि आतंकवाद के मुद्दे पर भारत का रुख हमेशा से साफ रहा है, लेकिन पाकिस्तान ने खुद को एक कैटेगरी में ढाल लिया है. आतंकवाद का मुद्दा दोनों देशों के संबंधों में खाई बना हुई है.

विदेश सचिव एस. जयशंकर ने बुधवार को दिल्ली में कार्नेजी इंडिया की शुरुआत के मौके पर कहा कि इससे देश के विकास को रफ्तार मिलेगी. भारत सरकार की विदेश नीति का पहला उद्देश्य पड़ोसियों से बेहतर रिश्ते रखना है. उन्होंने कहा कि जब तक भारत आतंकवाद से जूझ रहा है तब तक पाकिस्तान से संबंध बेहतर नहीं हो सकते.

उन्होंने कहा कि कार्नेजी इंडिया विकास की राह में एक बेहतर कदम है. इसके साथ काम करते हुए कॉमन इंटेरेस्ट की चीजों में और सुधार लाना है. इससे देश की अर्थव्यस्था नें सुधार लाने की रणनीति को भी मजबूती मिलेगी. यह कूटनीति का प्रमुख हिस्सा है.

'आतंकवाद है बड़ी समस्या'
पड़ोसी देशों से संबंधों को लेकर उन्होंने कहा कि द्विपक्षीय वार्ता के जरिए संबंधों को मजबूत बनाने की कोशिश होगी. ताकि एक-दूसरे पर भरोसा बढ़े. पाकिस्तान के मुद्दे पर विदेश सचिव ने कहा कि आतंकवाद के मुद्दे पर भारत का रुख हमेशा से साफ रहा है, लेकिन पाकिस्तान ने खुद को एक कैटेगरी में ढाल लिया है. आतंकवाद का मुद्दा दोनों देशों के संबंधों में खाई बना हुई है.

उन्होंने कहा, 'जब तक हम आतंकवाद की समस्या से जूझ रहे हैं तब तक ये कहना मुश्किल है कि पाकिस्तान से हमारे रिश्ते बेहतर हैं.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें